Monday, June 27, 2022

कांग्रेस चिंतन शिविर में बीजेपी के हिंदुत्व का मुकाबला करने के लिए बना ये खास प्लान

नई दिल्ली। आज राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर का तीसरा और आखिरी दिन है। बता दें कि 2024 के लोकसभा चुनावों को लेकर संगठन को मजबूत करने के लिए चिंतन शिविर में चर्चा हो रही है। इस बीच कांग्रेस ने ‘चिंतन शिविर’ में भाजपा की हिंदुत्व की राजनीति पर चर्चा की।

हिंदुत्व के मुद्दे पर बीजेपी से कैसे लड़ेगी कांग्रेस?

जानकारी के मुताबिक कई दिग्गजों ने अपने विचार व्यक्त किए कि कांग्रेस को भाजपा से मुकाबला करने के लिए अपने समावेशी एजेंडे को मजबूत करना चाहिए। वहीं बीजेपी की पिच पर बल्लेबाजी करने की कोशिश से बचना चाहिए। उत्तर प्रदेश के नेताओं ने सुझाव दिया कि पार्टी को धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लेना चाहिए।

मंदिर जाने से कुछ खास नहीं मिला फायदा

इसके विपरीत कुछ नेताओं ने कहा, राहुल गांधी के मंदिरों की यात्रा का कोई महत्वपूर्ण परिणाम नहीं निकला है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप अपनी मूल धर्मनिरपेक्ष विचारधारा से चिपके रहें। इससे पार्टी बीजेपी को टक्कर दे सकती है। लेकिन इस बात की संभावना कम है कि सीडब्ल्यूसी ऐसे प्रस्तावों का समर्थन करेगी।

बीजेपी पर ध्रुवीकरण का लगाया आरोप

अनौपचारिक बातचीत के दौरान, महासचिवों में से एक ने खुलासा किया कि जब अयोध्या को अपने एजेंडे में शामिल करने के लिए कहा गया था, तो किसी ने इसे ठुकरा दिया था। सोनिया गांधी ने शुक्रवार को कांग्रेस ‘चिंतन शिविर’ में अपने उद्घाटन भाषण में भाजपा पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि पार्टी लगातार ‘ध्रुवीकरण का खेल खेल रही है और जनता में भय पैदा कर रही है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश में ध्रुवीकरण की स्थायी स्थिति बनाए रखना चाहती है। लोगों को लगातार भय और असुरक्षा की स्थिति में जीने के लिए मजबूर करने के साथ, अल्पसंख्यकों को बेरहमी से निशाना बना रही है और उन पर अत्याचार कर रही है।

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

Latest news

Related news