भोपाल: लोकसभा चुनाव से पहले मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के राजनीतिक हालात को भांपने के इरादे से इंडिया न्यूज मंच का आयोजन किया गया जहां राज्य के राजनीतिक दिग्गजों ने शिरकत की. इस दौरान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान भी पहुंचे. हाल ही में राज्य में बीजेपी की हार को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उसके लिए स्थानीय कारक जिम्मेदार थे लेकिन लोकसभा चुनावों में स्थित पूरी तरह अलग होगी और राज्य में बीजेपी 29 की 29 सीटों पर जीत दर्ज करेगी.

कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने वादा किया था कि वो सरकार में आए तो दस दिनों में किसानों का कर्ज माफ कर देंगे लेकिन वो वादा झूठा निकला. उन्होंने कहा कि राज्य में अब हालात ये हैं कि बैंकों को मध्य प्रदेश सरकार पैसे नहीं दे रही, राज्य में तबादले का खेल चल रहा है. अपनी हार की समीक्षा करते हुए शिवराज ने कहा कि मेरे कार्यकाल में किसानों की फसल का उत्पादन दोगुना हुआ जिससे फसल की कीमतें काफी कम हो गई और किसानों को उसका नुकसान उठाना पड़ा. हालांकि उन्होंने ये भई कहा कि उनके कार्यकाल में एमपी में किसानों के लिए अभूतपूर्व काम किए गए.

मध्य प्रदेश में किसानों का कर्ज माफ करने के सवाल के जवाब में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राहुल गांधी दुनिया के सबसे झूठे नेता हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पूरे कॉन्फिडेंस से झूठ बोलते हैं. यही नहीं, उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस झूठ बोलने की मशीन है और जनता इस बात को समझ चुकी है.

महागठबंधन के सवाल के जवाब में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अगर महागठबंधन के नेताओं को एक साथ मंच पर खड़ा कर दिया जाए और पीछे से प्रधानमंत्री बोला जाए तो सब के सब पीछे मुड़कर देखेंगे. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को ये पानी पी-पीकर गाली देते थे आज पीएम मोदी के डर से उन्हें साथ आना पड़ रहा है लेकिन राज्यों में उनकी आपसी लड़ाई जारी है. शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बिहार में भाई-भाई सीट बंटवारे के लिए लड़ रहे हैं, बंगाल में मार्क्सवादी पार्टी और तृणमूल आपस में लड़ रहे हैं.

गठबंधन सवाल के जवाब में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऐसा ही एक गठबंधन पहले हुआ था भानुमति ने कुनबा जोड़ा जिसमें से निकले देवगौड़ा, जिनकी सिर्फ 9 दिन सरकार चली थी. बीजेपी के घोषणापत्र को लेकर शिवराज सिंह चौहान ने कहा- किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर सरकार का फोकस होगा. उन्होंने ये भी कहा कि सिर्फ गेंहूं चावल नहीं बल्कि, फूलों की खेती, फलों की खेती, सब्जियों की खेती और पशुपालन करना होगा जिससे किसानों की आय दोगुनी होगी.

लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे लोकसभा चुनाव लड़ने की जरूरत नहीं है. मैं तीन महीने पहले ही विधानसभा चुनाव लड़कर गया हूं. कोई भी कार्यकर्ता लड़ सकता है. अंतिम फैसला पार्टी का होगा. परिवार के राजनीति में आने के सवाल पर शिवराज बोले- विदिशा में मेरी पत्नी मुझसे ज्यादा लोकप्रिय है, प्यार से जनता आग्रह करती है कि चुनाव लड़ना चाहिए लेकिन हमने तय किया है कि हमारे परिवार से कोई चुनाव नहीं लड़ेगा.

BSP SP Alliance MP Uttarakhand: यूपी के बाद उत्तराखंड-मध्य प्रदेश में भी अखिलेश यादव की सपा और मायवती की बसपा का महागठबंधन, मिलकर लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

PM Modi in West Bengal: ममता बनर्जी के गढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली आज, तृणमूल कांग्रेस के आरोपों का देंगे जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App