मुंबई. महाराष्ट्र में सत्ता बनाने को लेकर चूहे-बिल्ली का खेल जारी है. देवेंद्र फडणवीस की भाजपा और उद्धव ठाकरे की शिवसेना के हमले एक दूसरे पर बढ़ते जा रहे हैं. सीएम पद को लेकर भाजपा ने साफ कर दिया है कि फडणवीस ही अगले पांच साल के लिए मुख्यमंत्री होंगे. शिवसेना के यह बात गले नहीं उतर रही है और सरकार बनाने के लिए बीजेपी के साथ 50-50 फार्मुले पर चलकर ढ़ाई साल अपनी पार्टी का मुख्यमंत्री चाहती है.

चिंता का विषय है कि बीजेपी और शिवसेना के बीच सरकार बनाने के लिए सिर्फ 48 घंटे का समय बचा है. अगर 9 नवंबर तक दोनों दल सहमती के साथ राज्यपाल का सरकार बनाने का प्रस्ताव नहीं पेश करते हैं तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जा सकता है. ऐसे में अगर दोनों दल समय से प्रस्ताव राज्यपाल को दे देते हैं तो उसके बाद भी सिर्फ 48 घंटे के समय में ही सरकार बनाने की सारी प्रक्रिया करनी होंगी जिनमें विधानसभा सत्र के साथ-साथ शपथ ग्रहण भी शामिल है.  

दूसरी ओर शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी  पर अवैध विधायकों की अवैध खरीद वका आरोप लगाया है. शिवसेना ने अपने संपादकीय मुखपत्र सामना में कहा कि महाराष्ट्र के लोग चाहते हैं कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी से हों और साथ ही उन्होंने सरकार बनाने पर गतिरोध को तोड़ने के लिए धन शक्ति का उपयोग करने का आरोप लगाया.

Shiv Sena Slams BJP Live Updates:

दोपहर 1. 40 बजे: इतिहास में पहली बार ऐसा देखा जा रहा जब दो राजनीतिक दलों ने चुनाव से पहले गठबंधन किया और नतीजों में बहुमत के साथ जीत भी हासिल की लेकिन जब सरकार बनाने की बात आई तो सीएम पद को लेकर दोनों पार्टियां भिड़ गई. 

दोपहर 1. 30 बजे: मातोश्री में शिवसेना की विधायक दल की बैठक खत्म हो गई है. बैठक में विधायकों ने कहा कि अगला सीएम शिवसेना का ही होना चाहिए. हालांकि, आखिरी फैसला पार्टी चीफ उद्धव ठाकरे ही लेंगे.  

दोपहर 1. 00 बजे: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच चल रहे विवाद पर नितिन गडकरी ने बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि हमें शिवसेना का समर्थन मिलेगा. अभी दोनों तरफ से बातचीत की जा रही है. 

दोपहर 12. 50 बजे: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उन सभी अफवाहों को खारिज कर दिया है जिनमें कहा जा रहा था कि शिवसेना सिर्फ एक शर्त में ही बीजेपी के साथ सरकार बनाएगी कि राज्य का मुख्यमंत्री नितिन गडकरी को बनाया जाएगा. नितिन गडकरी ने कहा कि राज्य में देवेंद्र फडणवीस की नेतत्व में ही अगली सरकार बनने जा रही है.  नितिन गडकरी ने कहा कि उनका महाराष्ट्र की राजनीति में वापसी का कोई मतलब नहीं, वे केंद्र में अपनी भूमिका जारी रखेंगे. 

दोपहर 12. 45 बजे:  महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे आने के बाद सियासी रुख ने काफी करवट ली. जहां पहले बीजेपी अपनी सहयोगी शिवसेना को डिप्टी सीएम पद देने का सोच रही थी, वही शिवसेना अब बीजेपी को डिप्टी सीएम का ऑफर दे रही है. शिवसेना नेता संजय राउत ने तंज भरे अंदाज में कहा कि शिवसेना अब अपना सीएम चाहती है और देवेंद्र फडणवीस चाहें तो उप मुख्यमंत्री बन सकते हैं.

दोपहर 12. 00 बजे: राजनीतिक गलियारों में कयास हैं कि शिवसेना और एनसीपी कांग्रेस के बाहरी समर्थन के साथ सरकार बना सकती है लेकिन शरद पवार के आए बयान ने इस स्थिति पर अभी रोक लगा दी है. शरद पवार का कहना है कि बीजेपी और शिवसेना पिछले काफी समय से साथ हैं, दोनों को जनता ने सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया है जिसका उन्हें सम्मान करते हुए सरकार बना लेनी चाहिए. शरद पवार साफ कह चुके हैं कि राज्य में एनसीपी और कांग्रेस विपक्ष की भूमिका में बैठेगी लेकिन क्या ऐसा सच में होगा ये देखना काफी दिलचस्प होगा.

Also read, ये भी पढ़ें: Sharad Pawar on Maharashtra Govt Formation: एनसीपी चीफ शरद पवार का बड़ा बयान, बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन नहीं चाहते हैं तो बीजेपी- शिवसेना मिलकर बनाए सरकार

Maharashtra Shiv Sena NCP Coalition: महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन से पहले शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने रखी बीजेपी से गठबंधन तोड़ने की शर्त

Maharashtra Shiv Sena Chief Minister: महाराष्ट्र में बढ़ी शिवसेना बीजेपी में तनातनी, आदित्य ठाकरे फॉर CM के लगे पोस्टर, संजय राऊत ने कहा हमारा ही होगा मुख्यमंत्री

BJP MP Janardan Mishra Slammed MP Government: मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार पर भड़के बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा ने कहा- किसानों से कर्ज वसूली करने वालों के तोड़ देंगे हाथ, दबा देंगे गला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App