जयपुर. राजस्थान विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के 48 घंटे बाद भी पार्टी मुख्यमंत्री पद के लिए नाम घोषित नहीं कर पा रही है. पार्टी के आलाकमान ने वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत के नाम पर मुहर लगाई थी लेकिन राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट इस बात पर सहमत नहीं हैं. उन्होंने गुरुवार देर रात पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करके अपनी मुख्यमंत्री पद के लिए दावेदारी पेश की. उन्होंने साफ कर दिया की वो अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री बनने पर सहमत नहीं है.

सचिन पायलट ने इस बारे में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्होंने राजस्थान में चुनाव के लिए बहुत मेहनत की है. यदि उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया तो जनता के बीच गलत संदेश जाएगा. सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने सचिन पायलट को मनाने की कोशिश की. इसके लिए उनसे बात की गई लेकिन वो अपनी दावेदारी पर अड़े हैं. बता दें कि सचिन पायलट ने अपनी दावेदारी विधानसभा चुनावों के लिए की गई मेहनत के आधार पर पेश की है.

दरअसल 2013 में कांग्रेस को भाजपा ने बुरी तरह हराया था. कांग्रेस को केवल 21 सीटें मिली थीं. इसके बाद राजस्थान कांग्रेस की कमान सचिन पायलट के हाथों में सौंपी गई. सचिन पायलट ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर राज्य में अपनी टीम बनाई और सरकार का भी लगातार घिराव किया. इस साल होने वाले चुनावों में कांग्रेस को बड़ी जीत हासिल हुई. कांग्रेस के हाथ इस साल 99 सीट आई. इसी के आधार पर सचिन पायलट अपनी दावेदारी को लेकर अड़े हैं. अभी पार्टी की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया है. हालांकि कहा जा रहा है कि पार्टी आज मुख्यमंत्री पद के लिए नाम घोषित कर देगी.

Rajasthan Government CM Swearing-In LIVE update: अशोक गहलोत होंगे राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री!

Rahul Gandhi Press Conference on Assembly Election Result: राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी को हराने के बाद राहुल गांधी बोले- जनता सबसे बड़ी टीचर है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App