नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) ने तीन दिवसीय कार्यक्रम के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपी पूर्व सीएम अखिलेश यादव, बसपा प्रमुख मायावती, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत 3 हजार लोगों को न्योता भेजा है. ‘भविष्य का भारत: संघ की दृष्टि’ कार्यक्रम में समाजिक और राजनीतिक हस्तियां, धार्मिक संगठनों से जुड़े लोग, अल्पसंख्यक नेता और सेवानिवृत नौकरशाह आमंत्रित किए गए हैं. यह कार्यक्रम दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित होगा, जहां संघ प्रमुख मोहन भागवत सभी आमंत्रित लोगों और कार्यकर्ताओं से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत रूबरू होंगे.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कार्यक्रम में क्षेत्रीय दलों के नेताओं के साथ सभी पार्टियों के नेताओं को न्योता भेजा गया है. राहुल गांधी, अखिलेश, मायावती, ममता बनर्जी के साथ लोकसभा विपक्ष नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, चंद्रबाबू नायडू समेत कई बड़े दिग्गज नेता शामिल होंगे. संध का कहना है कि तीन दिवसीय इस कार्यक्रम में प्रतिदिन करीब 1 हजार लोग शामिल हो सकते हैं. संघ ने आमंत्रित लोगों की सूची उन सभी को ध्यान में रखते हुए बनाई है जो पहले भी आरएसएस द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा बन चुके हैं. संघ चाहता है कि इसके जरिए लोग आरएसएस की विचारधारा को समझें.

संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, ‘भविष्य का भारत: संघ की दृष्टि’ नामक इस कार्यक्रम में सभी धर्मों के लोगों को बुलावा भेजा जाएगा जिससे संघ को लेकर लोगों को मनों में बना मिथक तोड़ा जा सकें, क्योंकि संघ किसी को भी अलग नहीं रखना चाहता है. आपको बता दें कि बीते दिनों जब राहुल गांधी अपने यूरोप दौरे पर थे तो उन्होंने संघ को लेकर कई टिप्पणियां की थी. ऐसे में राहुल गांधी को जवाब देते हुए संघ ने कहा था कि राहुल गांधी को आरएसएस के कार्यक्रमों में आना चाहिए. जिसके बाद अब संघ ने राहुल गांधी को अपने तीन दिवसीय कार्यक्रम के न्योता भेज दिया है.

World Hindu Congress: शिकागो में बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत- वर्षों से प्रताड़ित हो रहे हिंदुओं को एकजुट होने की जरूरत

क्या RSS के कार्यक्रम में शामिल होंगे राहुल गांधी, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- संघ जहर है, चखने की जरूरत नहीं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App