पटना. लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) चीफ लालू प्रसाद यादव के परिवार में पड़ी फूट के बाद अब उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी अपने परिवार को संभालने के लिए आगे आई हैं. राबड़ी देवी ने परिवार से नाराज से चल रहे अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को घर आने के लिए भावनात्मक अपील की है. उन्होंने कहा है, बेटा लौट आओ, अब बहुत हो गया है. तेज प्रताप यादव पिछले साल से ही अपने घर से दूर रह रहे हैं. हाल ही में बिहार महागठबंधन में सीट बंटवारे के बाद राज्य की दो लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी के नाम को लेकर तेज प्रताप की अपने भाई तेजस्वी यादव से ठन गई थी. इसके बाद उन्होंने आरजेडी से अलग पार्टी बनाने का भी फैसला किया था.

तेज प्रताप यादव पिछले साल अपने पिता लालू प्रसाद यादव को मिलने रांची जेल गए थे. इससे पहले ही उन्होंने अपनी पत्नी एश्वर्या राय से तलाक की अर्जी कोर्ट में दी थी. रांची से लौटने के बाद तेज प्रताप अपने घर नहीं आए और पटना में ही दूसरी जगह रहने लग गए. लालू प्रसाद यादव के जेल में रहने के बाद अनाधिकारिक तौर पर आरजेडी की कमान तेजस्वी यादव ने संभाल रखी है. जिस कारण तेज प्रताप खुद को अलग-थलग महसूस करने लगे. यही कारण रहा कि उनकी अपने परिवार से नाराजगी बढ़ती ही गई.

पिछले दिनों तेज प्रताप ने बिहार की जहानाबाद और शिवहर पर अपने मनचाहे प्रत्याशी को उतारने की कोशिश की. हालांकि जब वे सफल नहीं हुए तो उन्होंने बागी तेवर अपनाए और छात्र आरजेडी के संरक्षक पद से इस्तीफा दे दिया. साथ ही लालू-राबड़ी मोर्चा नाम से अलग दल बनाने की घोषणा कर दी. साथ ही उन्होंने अपने ससुर चंद्रिका राय को सारण लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाए जाने पर भी आपत्ति जताई थी.

मां के लाडले हैं तेज प्रताप!
तेज प्रताप यादव अपनी मां राबड़ी देवी को बहुत मानते हैं. उन्होंने अपने भाई तेजस्वी यादव से सारण से चंद्रिका राय के बजाय राबड़ी देवी को प्रत्याशी बनाने की बात कही थी. परिवार में वे सबसे करीब अपनी मां से ही हैं. राबड़ी देवी ने भी बताया कि उनकी हर रोज तेज प्रताप से बात होती है. हालांकि राबड़ी ने दोनों भाइयों के बीच तकरार की बात को भी नकार दिया है. उन्होंने कहा कि ये सब बीजेपी और जेडीयू की चाल है जो तेज प्रताप को भड़का रहे हैं. उन्होंने राजनीतिक विरोधियों पर अपने परिवार को तोड़ने का आरोप भी लगाया है.

Kanhaiya Kumar Income: लोकसभा 2019 चुनाव के हलफनामे में कन्हैया कुमार ने खुद को बताया बेरोजगार लेकिन सालाना आय 8.5 लाख

Supreme Court Rejects Lalu Yadav bail: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव को सुप्रीम कोर्ट से झटका, जमानत याचिका खारिज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App