पंजाब, पंजाब कांग्रेस की कलह सुलझने का नाम ही नहीं ले रही, ऐसे में पार्टी में फेर-बदल किए जा रहे हैं लेकिन, फिर भी स्थिति में कोई बदलाव नहीं है. पार्टी के बीच का विवाद इस हद तक बढ़ गया है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की कुर्सी भी अब खतरें में नज़र आ रही है. कैप्टेन से नाराज़ विधायकों ने पार्टी हाईकमान को चिट्ठी लिखकर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की थी, जिसके बाद पार्टी ने आज शाम सोनिया गांधी के निर्देश पर विधायक दल की बैठक बुलाई गई है जिसमें हरीश रावत, अजय माकन व हरीश चौधरी भाग लेंगे.

कैप्टन की कुर्सी क्यों है खतरे में

पंजाब कांग्रेस पार्टी में मचा घमासान खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है, ऐसे में लंबे समय से चल रहे कुछ नाराज़ विधायकों ने बागी रुख अपना लिया है. विधायकों की नाराज़गी को देखते हुए पार्टी हाईकमान ने आज शाम 5 बजे सोनिया गांधी के निर्देश पर विधायक दल की बैठक बुलाई गई है जिसमें हरीश रावत, अजय माकन व हरीश चौधरी भाग लेंगे.. इस बैठक की जानकारी आधी रात को पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने अपने ट्विटर हैंडल पर दी.
विधायक दल की कैप्टन से नाराज़गी के चलते कैप्टेन की कुर्सी जाने के कयास लगाए जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक हाईकमान के 18 सूत्रीय फॉर्मूले को लेकर है, लेकिन बागियों के रुख को देखकर साफ है कि इसके जरिए कैप्टन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी है. ऐसे में, कैप्टेन ने अपनी कुर्सी बचाने के लिए अपने करीबी विधायकों की बैठक बुला ली है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर