चंडीगढ़. दिल्ली में प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है. दिल्ली में जहरीली हवा का कहर जारी है. लगातर पांचवे दिन एयर क्वालिटी इंडेक्स 480 पर पहुंच गया है. गैस चैंबर बनी दिल्ली में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी गई है. 5 नवंबर तक राजधानी के सभी स्कूल बंद रखने, कंस्ट्रक्शन पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं. प्रदूषण को कंट्रोल करने के लिए दिवाली पर पटाखे फोड़ने पर रोक लगाई गई. यहां तक की ऑड-इवन स्कीम को भी लागू किया जा रहा है. हालांकि दिल्ली सरकार का कहना है कि प्रदूषण में तेजी का कारण पास के राज्यों पंजाब और हरियाणा में पराली जलाना भी है. उनका कहना है कि दोनों राज्यों में पराली जलनी बंद हो जाएगी तो दिल्ली में प्रदूषण में कमी आएगी. पराली जलाने की बात को लेकर दोनों राज्यों दिल्ली और पंजाब के मुख्यमंत्री के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. इसी में अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिखा गया है.

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दिल्ली के प्रदूषण मुद्दे पर सर्वसम्मति बनाने के लिए केंद्र के हस्तक्षेप की मांग की है. उन्होंने पत्र में कहा है कि मैं इस मामले में पंजाब की जिम्मेदारी से हाथ धोने के लिए नहीं लिख रहा हूं. हमें दोष देना चाहिए लेकिन इसके लिए बाकी देश भी जिम्मेदार है. उन्होंने कहा कि दिल्ली और आपकी (केंद्र) सरकार सहित इसके लिए सभी जिम्मेदार हैं. उन्होंने केजरीवाल पर उंगली उठाते हुए कहा कि, राजधानी ने पंजाब और हरियाणा के किसानों द्वारा जलाई जा रही पराली को दिल्ली में स्मॉग की चादर बढ़ने का कारण बताया है. लेकिन जैसा की कई एजेंसियों ने दावा किया है इसका कारण बढ़ता ट्रेफिक, इंडस्ट्रियल प्रदूषण और बढ़े पैमाने पर हो रही कंस्ट्रक्शन है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी दुख की बात ये है कि लोगों के दुख को देखने के बाद भी लगातार और मूर्खतापूर्ण तरीके से अपने राजनीतिक विचार से ऊपर उठकर एक स्थायी समाधान ढूंढने की कोशिश ही नहीं कर रहे. उन्होंने कहा कि दिल्ली भी इंडस्ट्रीयल प्रदूषण, ट्रेफिक से हो रहे प्रदूषण को कंट्रोल करने के लिए कोशिश कर रही है. हमने भी अपने किसानों पर पैनल्टी लगाई है और पराली ना जलाने के लिए नियम सख्त कर दिए हैं. हालांकि मेरे हिसाब से आपकी केंद्र सरकार की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी मुझे उम्मीद थी कि आपकी सरकार मामले को अपने हाथ में लेगी और इस समस्या का एक मजबूत उपाय ढूंढेगी. उन्होंने कहा कि मैंने आपको कई बार कैबिनेट बैठक में कई उपाय दिए हैं. अब आपके हाथ में है कि कोई स्थायी उपाय ढूंढे और बाकियों दिल्ली, हरियाणा और पंजाब से भी चर्चा करें. राजनीतिक विचारों से उपर उठकर बिना किसी देरी के एक उपाय लाएं.

यहां पढ़ें अमरिंदर सिंह का पूरा पत्र

Also read, ये भी पढ़ें: Delhi Pollution Air Quality Index Today: दिल्ली में जहरीली हवा का कहर जारी, लगातर पांचवे दिन AQI 480 पर पहुंचा

Delhi Air Pollution Precautions: दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण से बचने के लिए बरतें ये सावधानियां

Air Quality Smog in North India: जहरीली हवा निगल रही है आपकी जिंदगी के सात साल, रिसर्च में एयर पॉल्युशन पर चौंकाने वाला खुलासा

Delhi Air Quality Index to Severe: दिल्ली-एनसीआर में दिवाली बीतने के 24 घंटे के बाद वायू प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्तर पर, सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ताक पर रखकर खूब फोड़े गए पटाखे, दिल्ली-एनसीआर की हवा हुई जहरीली

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर