नई दिल्ली. आरक्षण पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की टिप्पणी ने सोमवार को एक राजनीतिक विवाद को जन्म दिया है जिसमें कांग्रेस ने भी आरएसएस पर निशाना साधा है. कांग्रेस उत्तर प्रदेश महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इसी के चलते आरएसएस पर निशाना साधा है. आरोप लगाया कि भाजपा और संघ देश में दलित विरोधी मानसिकता रखते हैं और कोटा समाप्त करने की साजिश कर रहे हैं. साथ ही कहा है कि आरएसएस के मंसूबे खतरनाक हैं. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को दिल्ली में एक कार्यक्रम में कहा कि आरक्षण के पक्ष में और इसके खिलाफ लोगों के बीच सौहार्दपूर्ण वातावरण में बातचीत होनी चाहिए.

इसी के बाद पूर्वी उत्तर प्रदेश की कांगेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके आरएसएस पर निशाना साधा. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, आरएसएस का हौसला बढ़ा हुआ है और मंसूबे खतरनाक हैं. जिस समय भाजपा सरकार एक-एक करके जनपक्षधर कानूनों का गला घोंट रही है. आरएसएस ने भी लगे हाथ आरक्षण पर बहस करने की बात उठा दी है. बहस तो शब्दों का बहाना है मगर आरएसएस-बीजेपी का असली निशाना सामाजिक न्याय है. लेकिन क्या आप ऐसा होने देंगे?

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भागवत की टिप्पणी पर विवाद को अनावश्यक करार दिया और जोर देकर कहा कि उन्होंने आरक्षण जैसे संवेदनशील मुद्दे पर सभी से विचार-विमर्श करने को कहते हुए सौहार्दपूर्ण तरीके से समाज में सभी मुद्दों को हल करने के महत्व पर प्रकाश डाला. अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार की ओर से जारी बयान में कहा गया, सरसंघचालक श्री मोहन भागवत जी के दिल्ली में एक कार्यक्रम में दिये गये भाषण के एक भाग पर अनावश्यक विवाद खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है. समाज में सदभावना पूर्वक परस्पर बातचीत के आधार पर सब प्रश्नों के समाधान का महत्व बताते हुए उन्होंने आरक्षण जैसे संवेदनशील विषय पर विचार करने का आह्वान किया. जहां तक संघ का आरक्षण के विषय पर मत है, वह अनेक बार स्पष्ट किया जा चुका है कि अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी एंव आर्थिक आधार पर पिछड़ों के आरक्षण का पूर्ण समर्थन करता है.

Facebook Whatsapp Aadhar Link Supreme Court Case: आधार से लिंक करने के मामले में फेसबुक, व्हाट्सएप की याचिका पर गूगल, यूट्यूब और केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, 2 सितंबर तक मांगा जवाब

Zakir Naik Banned in Malaysia: मलेशिया में विवादास्पद जाकिर नाइक पर प्रतिबंध, नहीं दे सकेंगे भाषण

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App