मुंबई: बिहार की नीतीश सरकार में केंद्रीय मंत्री का दर्जा प्राप्त चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब शिवसेना के लिए काम करते हुए नजर आएंगे. प्रशांत किशोर ने मंगलवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से उनके आवास मातोश्री में जाकर उनसे मुलाकात की. प्रशांत किशोर इससे पहले साल 2014 में पीएम नरेंद्र मोदी का चुनावी कैंपेन चला चुका है जिसमें बीजेपी को जबर्रदस्त जीत मिली थी. इसके बाद प्रशांत किशोर ने बिहार विधानसभा चुनावों में नीतीश कुमार के खेमे के लिए कैंपेन किया जिसका फायदा ये हुआ कि नीतीश कुमार की बिहार में सरकार बनी.

इसके बाद प्रशांत किशोर ने यूपी चुनाव में कांग्रेस का चुनावी कैंपेन संभाला हालांकि इस चुनाव में प्रशांत किशोर का जादू नहीं चल सका और कांग्रेस को हार का मुंह देखना पड़ा लेकिन प्रशांत किशोर की छवि अब भी सफल चुनावी रणनीतिकार की है. अबकी बार मोदी सरकार का नारा हो या फिर बिहार में बहार, नीतिशे कुमार है लोगों की जुबान पर अबतक है.

आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि प्रशांत किशोर किसके पाले में जाते हैं और किसके लिए चुनाव प्रचार करते हैं लेकिन साफ हो गया है कि इस बार प्रशांत किशोर शिवसेना का साथ देंगे जो इन दिनों अपनी छवि बनाने के लिए जी जान से जुटी है. हाल ही में रिलीज हुई फिल्म ठाकरे इसका जीता जागता सबूत है. हालांकि प्रशांत किशोर के शिवसेना के साथ जाने को लेकर पेंच फंसा हुआ है क्योंकि वो अभी जेडीयू का हिस्सा हैं और नीतीश कुमार के बाद पार्टी में नंबर दो की हैसियत रखते हैं. ऐसे में किसी दूसरी पार्टी के लिए काम करना उनके राजनीतिक करियर को नुकसान पहुंचा सकता है.

Uddhav Thackeray Meets Prashant Kishore: भाजपा-शिवसेना की तनातनी के बीच उद्धव ठाकरे से मिले जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर, विरोधियों में मची खलबली

Uday Singh Quits BJP: दो बार बिहार के पूर्णिया से सांसद रहे उदय सिंह ने छोड़ी बीजेपी, बांधे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफों के पुल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App