Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 

 Green Tea पीने के फायदे जानकर, आज से पीना कर देंगे शुरू

0
Green tea benefits: ग्रीन टी (Green tea) से होने वालों फायदों को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं. कुछ लोग कहते हैं कि ग्रीन...

इन सवालों से समझें पूरे गुजरात चुनाव का गणित: क्यों AAP का दिल्ली मॉडल...

0
गाँधीनगर: यदि गुजरात में इस ऐतिहासिक भाजपा जीत के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के अलावा कोई महत्वपूर्ण कारण है, तो वह है...

Himachal Election Result 2022: अन्य के खाते में आई 3 सीटे, जाने किसने की...

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है।कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

हिमाचल से जीतने के बाद कांग्रेस विधायकों की चंडीगढ़ में बैठक, राजस्थान या छत्तीसगढ़...

0
नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक दल की बैठक चंडीगढ़ में होगी। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पहले यहां चंडीगढ़ में जीते हुए विधायक...

Himachal Election Result 2022: कांग्रेस ने मारी बाजी, जाने हर सीट के नतीजे

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है। कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

राजस्थान के घमासान पर सोनिया का संदेश- “चाहे पूरी रात हो जाए, आज ही निकालेंगे समाधान”

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस में इस समय सब ठीक नज़र नहीं आ रहा है, दरअसल, राजस्थान के मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए इस वक्त जोरदार घमासान देखने को मिल रहा है. रविवार 7 बजे कांग्रेस की बैठक बुलाई थी. इस बीच खबर आ रही है कि गहलोत समर्थक 92 विधायक किसी भी वक्त इस्तीफ़ा दे दिया है. ये विधायक कुछ देर पहले कांग्रेस शांति धारीवाल के घर जमा हुए, जिसके बाद इन्होने अब अपना इस्तीफ़ा स्पीकर को सौंप दिया है.

इस संबंध में कांग्रेस नेता प्रताप खाचरियावास ने कहा है कि हमारी मीटिंग हो गई है. हमारे साथ 92 विधायक हैं, और उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया है. इन विधायकों का कहना है कि नए सीएम के चयन में उनकी राय नहीं ली गई है इसलिए वो बेहद नाराज़ हैं और उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया है.

सोनिया का खड़गे को संदेश

राजस्थान के घमासान के बीच कांग्रेस हाईकमान एक्शन में आ गया है. सोनिया गांधी की तरफ से पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे को संदेश दिया गया है कि चाहे सारी रात बैठना पड़े लेकिन इस समस्या का आज ही समाधान निकलना चाहिए, वहीं कांग्रेस नेतृत्व का संदेश है कि खड़गे और माकन एक-एक विधायक से बात करें और उन्हें समझाने की कोशिश करें.

बता दें कि वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ने जा रहे हैं, ऐसे में उन्हें मुख्यमंत्री का पद तो छोड़ना ही पड़ेगा. अब सचिन पायलट को सीएम बनाए जाने की उम्मीद सबसे ज्यादा है. लेकिन कांग्रेस के लिए ये फैसला इतना आसान नहीं होने वाला है. गहलोत गुट के विधायक पायलट को सीएम बनाने का विरोध कर रहे हैं.

पद का लालच नहीं

बता दें अशोक गहलोत रविवार को जैसलमेर में तनोट माता के मंदिर में दर्शन और पूजा के लिए पहुंचे थे, इसी दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मीडिया में ये खबरें आ रही हैं कि वह मुख्यमंत्री का पद नहीं छोड़ना चाहते हैं, उन्होंने कहा कि उनके लिए कोई पद पार्टी से बड़ा नहीं है. अशोक गहलोत ने कहा ’मैंने अगस्त में ही आलाकमान से कहा है कि अगला चुनाव ऐसे व्यक्ति के नेतृत्व में लड़ा जाना चाहिए जिससे प्रदेश में फिर से कांग्रेस सत्ता में आ सके. चाहे इसके लिए मेरे नेतृत्व में चुनाव हो या किसी और के नेतृत्व में, जीत पार्टी की होनी चाहिए’.उन्होंने कहा कि राजस्थान एकमात्र बड़ा राज्य बचा है, जहाँ कांग्रेस सत्ता में है, इसलिए इसे बनाए रखना है.

Latest news