श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की राजनीति में 16 सालों के बाद एक दुर्लभ संयोग बनता नजर आ रहा है. खबर है कि राज्य में सरकार बनाने के लिए एक दूसरे की धुर विरोधी पार्टी उमर अब्दुल्ला की नेशनल कॉन्फ्रेंस और महबूबा मुफ्ती की पीडीपी कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सरकार बना सकती है. मीडिया में आ रही जानकारी के मुताबिक पीडीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाएगी और नेशनल कॉन्फ्रेंस सरकार को बाहर से समर्थन देगी. ऐसा ही कुछ साल 2002 में हुआ था जब पीडीपी ने कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी और नेकां ने उसे बाहर से समर्थन दिया था. नेंका के समर्थन से सरकार ने पांच सालों का कार्यकाल सफलतापूर्वक पूरा भी किया था.

गौरतलब है कि मार्च 2015 में पीडीपी और बीजेपी ने मिलकर राज्य में गठबंधन सरकार बनाई थी जिसमें मुफ्ती मोहम्मद सईद मुख्यमंत्री थे और उनके निधन के बाद उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती ने गठबंधन सरकार को आगे बढ़ाया और राज्य की मुख्यमंत्री बनीं. इस साल जून में बीजेपी और पीडीपी के रिश्तों में आई खटास के बाद राज्य में सरकार गिर गई और राष्ट्रपति शासन लग गया था.

जम्मू-कश्मीर में 19 दिसंबर को राज्यपाल शासन के 6 महीने पूरे हो रहे हैं. नियमों के मुताबिक इसे आगे नहीं बढ़ाया जा सकता. अगला विकल्प ये है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाए लेकिन उसके लिए विधानसभा भंग करनी पड़ेगी. यही वजह है कि सरकार को बचाने के लिए एनसी और पीडीपी साथ आने को तैयार हो गए हैं. खबरों की मानें तो एनसी, पीडीपी और कांग्रेस ने राज्यपाल को समर्थन की चिट्ठी भेज दी है. 

एनसी-पीडीपी गठबंधन से जम्मू-कश्मीर बीजेपी में हलचल

नेशनल कांन्फ्रेंस और पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन की खबर से बीजेपी सकते में आ गई है और खबर है कि बीजेपी पीडीपी के बागी सदस्यों के साथ मिलकर सरकार बनाने के लिए दावा पेश करेगी. हालांकि नंबरों के लिहाज से देखें तो बीजेपी के लिए सरकार बनाना मुश्किल हो सकता है जबकि पीडीपी, एनसी और कांग्रेस मिलकर आसानी से 56 सीटें लाकर सरकार बना सकते हैं. 

जम्मू कश्मीर विधानसभा में ये है सीटों का गणित

कुल सीटें 87 

पीडीपी- 28
बीजेपी-25
नेशनल कॉन्फ्रेंस-15
कांग्रेस-12
जेकेपीसी-2
सीपीएम-1
जेकेपीडीएफ़-1
निर्दलीय-3

Kashmir Teen Killed by Terrorists: सेना को सूचना  देने का आरोप लगाकर कश्मीरी लड़के को हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों ने गोलियों से भूना, जारी किया वीडियो

Iqbal Ansari supports Ram Temple Legislation बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी बोले- सरकार अध्यादेश लाकर राम मंदिर बनाती है तो आपत्ति नहीं, योगी आदित्यनाथ ने बढ़ाई धारा 144

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App