नई दिल्लीः पूर्व गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने हिंदू आतंकवाद पर बयान देते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि गुजरात में जो हुआ, उसे आप क्या कहेंगे. महात्मा गांधी की हत्या को आप क्या कहेंगे. हिंदुत्व, इस्लाम और ईसाई धर्म आतंकवाद का प्रचार नहीं करता है लेकिन इंसान का दिमाग प्रदूषित हो गया है. बता दें कि मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस के सभी आरोपियों को कोर्ट द्वारा छोड़ने के बाद सियासी बयानबाजी जारी है.

मक्का मस्जिद पर आए फैसले के बाद भाजपा के निशाने पर आई कांग्रेस का कहना है कि भगवा आतंक जैसी कोई चीज नहीं हैं. कांग्रेस प्रवक्ता पीएल पुनिया ने इस मामले पर कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी की ओर से कभी किसी ने भी भगवा आतंकवाद शब्द नहीं कहा. वहीं संयुक्त सचिव आरबीएस मणि ने हिंदू आतंकवाद को लेकर कहा था कि आरोपियों पर सारे आरोप फर्जी थे.

जिस पर पुनिया ने कहा था कि मणि के बयान को पूरी तरह देंखे तो उन्होंने ये भी कहा कि रिकार्ड में कहीं भी भगवा आतंकवाद जैसा कुछ नहीं है. पाटिल ने कहा कि आतंका का कोई धर्म नहीं होता है ये मानसिकता और आपराधिक प्रवृत्ति है. इसे किसी धर्म या समाज से जोड़कर नहीं देखना चाहिए. संबित पात्रा के चुनाव में तिरंगे के भगवा रंग का पीछा करने के सवाल पर उन्होंने जवाब देना उचित नहीं समझा और कहा कि वे हमेशा से ही ये कहते आए हैं.

यह भी पढ़ें- अमेठी दौरे पर गए राहुल गांधी ने साधा बीजेपी पर निशाना, कहा- हमारे किए कामों का श्रेय ले रही है

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में फैसला सुनाने वाले जज का इस्तीफा- सूत्र

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App