नागपुर : नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री नितिन गडकरी के पूर्व पीएम इंदिरा गांधी पर दिए बयान से पार्टी के अंदर हलचल मच गई है. नितिन गडकरी ने पार्टी लाइन से बाहर जाकर यह बयान दिया है. एक कार्यक्रम में नितिन गडकरी ने कहा कि इंदिरा गांधी अपने दौर की एक महान नेता थी. उस दौर में कोई मर्द नेता भी उनकी बराबरी का नहीं था. एक ओर जहां नितिन गडकरी की पार्टी बीजेपी हमेशा इंदिरा गांधी की अलोचना करती है वही नितिन गडकरी के इस बयान नें नई सियासी संभावनाओं को भी बल दे दिया है.

नितिन गडकरी के अलावा बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता हमेशा इंदिरा गांधी की अलोचना करते हैं. इंदिरा गांधी की सबसे ज्यादा अलोचना 1975 में लगाई गई इमरजेंसी के लिए किया जाता है. 1975 की इमरजेंसी को देश एक काले दौर के रूप में याद करता है. नितिन गडकरी के इस बयान से लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी की मुसीबत बढ़ सकती है, क्योंकि पिछले कई दिनों से बीजेपी के कई नेताओं ने पार्टी लाइन से बाहर जाकर बयान दिया है जिससे पार्टी की किरकिरी हुई है. इससे पहले भी नितिन गडकरी पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू की तारीफ कर चुके हैं.

नितिन गडकरी नागपुर स्थित स्वयं सेवी महिला संगठन के एक कार्यक्रम में संबोधन के दौरान कहा कि इंदिरा गांधी ने कभी आरक्षण का सहारा नहीं लिया. बिना आरक्षण के ही उन्होंने पीएम पद तक का सफर किया. इंदिरा गांधी सशक्त महिला थी. नितिन गड़करी ने महिलाओं को दिए जाने वाले आरक्षण का समर्थन भी किया. नितिन गड़करी ने कहा कि जाति और धर्म के आधार पर कोई महान नहीं बन सकता है. महान बनने के लिए सिर्फ ज्ञान की जरूरत होती है. अगर आप के पास ज्ञान नहीं है तो आप आगे नहीं बढ़ सकते हैं.

Nitin Gadkari On Tolerance: मोदी सरकार के मंत्री नितिन गडकरी ने की जवाहरलाल नेहरू की तारीफ, कहा- सहिष्णुता भारत की महत्त्वपूर्ण संपत्ति

Nitin Gadkari On Tolerance: मोदी सरकार के मंत्री नितिन गडकरी ने की जवाहरलाल नेहरू की तारीफ, कहा- सहिष्णुता भारत की महत्त्वपूर्ण संपत्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App