नई दिल्लीः मालेगांव विस्फोट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लोकसभा चुनाव 2019 में भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद बवाल मचा हुआ है. विपक्षी पार्टियां बीजेपी और साध्वी प्रज्ञा पर हमलावर हैं, वहीं साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि मुझे जानबूझकर फंसाया गया है और साल 2008 में हुए मालेगांव बम ब्लास्ट के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है. साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं.

इस बीच मालेगांव बम ब्लास्ट में मारे गए लोगों के परिजनों ने मुंबई स्थित एनआईए कोर्ट और चुनाव आयोग से गुहार लगाई है कि वह साध्वी प्रज्ञा को चुनाव लड़ने से बैन करें. मामले में एनआईए कोर्ट के जज वी. एस. पाडलकर ने एनआईए और साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर से जवाब मांगा है. साथ ही कहा है कि वह सोमवार को इस पर सुनवाई करेगी. हालांकि, इस बीच चुनाव आयोग ने साफ-साफ कह दिया है कि वह साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने पर रोक नहीं लगाएगा.

  1. मालेगांव ब्लास्ट में मारे गए एक लोगों के परिजनों ने कोर्ट से कहा कि चूंकि इस मामले में एनआईए को कुछ कहना नहीं है, ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि हम कोर्ट को बताएं कि यह मामला विचाराधीन है और इस हमले में भारी जान-माल की क्षति हुई थी.
  2. मालेगांव बम धमाके के एक पीड़ित के पिता 59 वर्षीय निसार सईद ने एनआईए कोर्ट में शिकायत दर्ज कराकर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की उम्मीदवारी को चुनौती दी. उन्होंने एनआईए कोर्ट से मांग की कि साध्वी प्रज्ञा मालेगांव विस्फोट की प्रमुख आरोपी हैं और बीमारी के चलते जमानत पर हैं इसलिए उनकी उम्मीदवारी पर रोक लगाई जाए.
  3. मालूम हो कि सिंतबर 2008 में मालेगांव में एक बाइक पर लगे बम में ब्लास्ट होने की वजह से 6 लोगों की मौत हो गई थी और 100 से ज्यादा घायल हुए थे. महाराष्ट्र के मालेगांव में हुए बम ब्लास्ट में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का नाम आया और उन्हें लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित के साथ गिरफ्तार कर लिया गया था.
  4. मालेगांव विस्फोट मामले की जांच के बाद साध्वी प्रज्ञा के ऊपर लगे मकोका को कोर्ट ने हटा दिया. उनपर गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत मुकदमा चलाया गया. साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने 9 साल जेल में बिताए, जिसके बाद में उन्हें जमानत दे दी गई.
  5. हाल ही में साध्वी प्रज्ञा सिंह बीजेपी में शामिल हुईं और पार्टी ने उन्हें मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतार दिया. इस बीच साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने उन्हें 20 साल पीछे कर दिया. गुरुवार को उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि जेल में उन्हें बहुत प्रताड़ित किया गया.

Hardik Patel Slapped Video: कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को चुनावी सभा में एक शख्स ने मंच पर आकर जड़ा थप्पड़

Priyanka Chaturvedi Quits Congress: नाराज होकर कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने दिया पार्टी से इस्तीफा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App