नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी और एनडीए ने प्रचंड बहुमत के साथ वापसी की है. पीएम मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. अब मोदी कैबिनेट के मंत्रीमंडल पर चर्चा जोरों पर है. इस बीच मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे अरूण जेटली ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर अपनी खराब सेहत का हवाला देते हुए उन्हें मंत्रीमंडल में शामिल न करने का आग्रह किया है. ऐसे में यह साफ हो गया है कि अरूण जेटली मोदी सरकार-2 में मंत्री नहीं बनने जा रहे हैं. मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रीमंडल के मुद्दे पर लगभग 5 घंटे तक चर्चा की. इस बैठक में नये मंत्रीमंडल में कौन-कौन से मंत्री हों, किसे क्या पद दिया जाए, एनडीए के घटक दलों में किसे कौन सा मंत्रालय दिया जाए जैसे मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई. सूत्रों के मुताबिक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के दो मंत्री और उद्धव ठाकरे की शिवसेना के दो मंत्री भी नई कैबिनेट का हिस्सा होंगे. बिहार से नीतीश के खास माने जाने वाले राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और आरसीपी सिंह के मंत्री बनने की चर्चा है.

अरूण जेटली का संन्यास!
नरेंद्र मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर उन्हें नई सरकार में किसी मंत्रालय में शामिल न करने का आग्रह किया है. अरूण जेटली की बिगड़ती सेहत देखकर उनके इस कदम को कई राजनीतिक पंडित उनका संन्यास भी मान रहे हैं. 

जेटली ने अपनी चिट्ठी में लिखा है, आदरणीय प्रधानमंत्री जी, पिछले पांच साल आपकी सरकार का हिस्सा रहना मेरे लिए गर्व की बात है. इससे पहले भी बीजेपी ने पहली एनडीए सरकार के समय भी मुझ पर विश्वास जताकर मुझे जिम्मेदारी सौंपी थी. जब हम विपक्ष में थे तब भी पार्टी ने मुझे सदन में बीजेपी का पक्ष रखने के लिए नियुक्त किया. मैं इससे ज्यादा कुछ भी नहीं मांग सकता था. पिछले 18 महीने से मैं गंभीर हेल्थ समस्याओं से जूझ रहा हूं. मेरे डॉक्टरों की वजह से उनमें से कई बीमारियों से मैं उबर चुका हूं. चुनावी कैंपेन के बाद जब आप केदारनाथ जा रहे थे तब भी मौखिक तौर पर मैंने आपसे कहा था कि चुनावी कैंपेन के दौरान मुझे जो भी जिम्मेदारी मिली मैंने उनका निर्वाह किया लेकिन भविष्य में कुछ समय के लिए मैं जिम्मेदारियों से दूर रहना चाहूंगा. इससे मैं अपने सेहत और इलाज पर ध्यान दे पाऊंगा. आपके नेतृत्व में एनडीए और बीजेपी ने शानदार जीत दर्ज की है. कल नई सरकार का शपथ ग्रहण भी है. मैं आपको औपचारिक तौर पर प्राथना करने के लिए यह पत्र लिख रहा हूं कि मुझे अपने लिए, अपनी सेहत और इलाज के लिए पर्याप्त समय देने की कृपा करें. इसलिए अगली सरकार में मुझे कोई कार्यभार न दिया जाए. हालांकि मेरे पास अनौपचारिक तौर पर सरकार या पार्टी की मदद करने के लिए पर्याप्त वक्त होगा जो मैं करूंगा भी.”

यहां देखें Narendra Modi New Cabinet Ministers Swearing LIVE Updates:

8:00 pm: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार रात पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिलने उनके आवास पहुंचेगे. सूत्रों का मानना है कि पीएम मोदी अरुण जेटली से सरकार में बने रहने को कह सकते हैं और मंत्री पद ने लेने से जुड़े अपने फैसले पर फिर से विचार करने को कह सकते हैं.

7.40 PM: मोदी सरकार के मंत्री परिषद में महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा के साथ ही पश्चिम बंगाल, दिल्ली और बिहार का भी बोलबाला रहने वाला है. इन राज्यों में अगले समय में विधानसभा चुनाव होने हैं. दिल्ली और बिहार साल 2020 में तो वहीं पश्चिम बंगाल और असम में 2021 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने इन राज्यों में बड़ी जीत हासिल की है और आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए मोदी कैबिनेट में इन राज्यों के नेताओं को खास तरजीह दी जाएगी.

7.25 PM: नरेंद्र मोदी के मंत्री परिषद में महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा राज्य के नेताओं को तरजीह दी जाएगी. इन राज्यों में साल 2019 के अंत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं और इन तीनों राज्यों में बीजेपी को भारी बहुमत से जीत मिली है. इसलिए कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन राज्यों से अधिकतर नेताओं को मंत्री बनाएंगे ताकि इसका फायदा आगामी विधासनभा चुनावों में मिल सके. आपको बता दें कि बीजेपी ने झारखंड की 14 लोकसभा सीटों में से 11 पर जीत दर्ज की है. वहीं महाराष्ट्र में भी बीजेपी नीत एनडीए को 48 में से 41 लोकसभा सीटों पर जीत मिली. इसी तरह हरियाणा में भी बीजेपी ने सभी 10 लोकसभा सीटें अपने नाम की हैं.

4:30 PM:  माना जा रहा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा की हार के बावजूद उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है. नरेंद्र मोदी की पहली सरकार में मनोज सिन्हा के पास रेल राज्य मंत्री की जिम्मेदारी थी.  

डिस्क्लेमेर: हालांकि यहां यह बताना जरूरी है कि नरेंद्र मोदी सरकार की नई कैबिनेट में गठन से पूर्व राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म है. अंतिम तौर पर कौन मंत्री बनेगा और कौन नहीं इसका फैसला कल राष्ट्रपती द्वारा मंत्रीमंडल को शपथ दिलाने के साथ ही हो पाएगा. आपको याद दिला दें कि दूसरी बार प्रचंड बहुमत से जीतने के बाद जब नरेंद्र मोदी को एनडीए संसदीय दल का नेता चुना गया तो उन्होंने जीतकर आए अपने सांसदों से कहा था कि मंत्रीमंडल के गठन पर अटकलों से दूर रहें. मोदी सरकार की कैबिनेट को लेकर जैसे-जैसे हमारे पास जानकारी आती जाएगी हम आपको अपडेट करते रहेंगे.

Pm Narendra Modi Oath Ceremony: बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद नरेंद्र मोदी 30 मई को लेंगे शपथ, कैबिनेट गठन पर चल रही दिग्गजों से चर्चा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App