उत्तर प्रदेश, UP Chunaav 2022:  उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले भाजपा और सपा का शह और मात का खेल जारी है, बीते दिन जहाँ भाजपा के स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफ़ा दिया, वहीं, दूसरी ओर अब मुलायम सिंह यादव के समधी और फिरोजाबाद की सिरसागंज सीट से विधायक हरिओम यादव ने भाजपा का दामन थाम लिया है. हरिओम यादव के अलावा कांग्रेस विधायक नरेश सैनी और सपा के पूर्व विधायक धर्मपाल यादव ने भाजपा जॉइन कर लिया है.

जिला पंचायत चुनाव में की थी बीजेपी की मदद

इससे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भी हरिओम यादव ने बीजेपी की मदद की थी. हरिओम यादव की वजह से ही फिरोजाबाद जैसे सीट पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी. हरिओम यादव फिरोजाबाद में सपा के मजबूत स्तंभ के रूप में थे. इतना ही नहीं, हरिओम यादव शिवपाल यादव के बेहद करीबी भी रहे हैं, लेकिन शिवपाल यादव के सपा में वापस जाने के बावजूद भी हरिओम यादव सपा के बजाय बीजेपी में शामिल हुए.

सपा से निलंबित चल रहे थे हरिओम यादव

हरिओम यादव की बात करें तो वे सपा से निलंबित चल रहे हैं. हरिओम यादव को पिछले साल फरवरी 2021 में सपा से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया था. हरिओम यादव सिरसागंज सीट के विधायक हैं, लेकिन उन्हें पिछले साल फरवरी में सपा से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया था. पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के निर्देश पर ही उन्हें निष्कासित किया गया था.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने छोड़ा था भाजपा का साथ

बीते दिनों भाजपा के दिग्गज नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने कमल का साथ छोड़ साइकल की सवारी चुनी थी. इसके बाद से ही, भाजपा महकमें में हलचल मची हुई है. स्वामी प्रसाद के भाजपा छोड़ने के बाद, भाजपा ने सपा पर काउंटर अटैक करते हुए मुलायम सिंह यादव के समधी और फिरोजाबाद की सिरसागंज सीट से विधायक हरिओम यादव को अपनी ओर शामिल कर लिया.

 

यह भी पढ़ें:

Covid Case Update फिर बड़ा उछाल, 1.94 लाख से ज्यादा नए केस, ऐक्टिव पहली बार 9 लाख पार

Swami Prasad Maurya Resigned: चुनाव से पहले ही यूपी में बीजेपी को झटका, स्वामी प्रसाद मौर्या ने दिया इस्तीफ़ा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर