Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 

 Green Tea पीने के फायदे जानकर, आज से पीना कर देंगे शुरू

0
Green tea benefits: ग्रीन टी (Green tea) से होने वालों फायदों को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं. कुछ लोग कहते हैं कि ग्रीन...

इन सवालों से समझें पूरे गुजरात चुनाव का गणित: क्यों AAP का दिल्ली मॉडल...

0
गाँधीनगर: यदि गुजरात में इस ऐतिहासिक भाजपा जीत के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के अलावा कोई महत्वपूर्ण कारण है, तो वह है...

Himachal Election Result 2022: अन्य के खाते में आई 3 सीटे, जाने किसने की...

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है।कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

हिमाचल से जीतने के बाद कांग्रेस विधायकों की चंडीगढ़ में बैठक, राजस्थान या छत्तीसगढ़...

0
नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक दल की बैठक चंडीगढ़ में होगी। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पहले यहां चंडीगढ़ में जीते हुए विधायक...

Himachal Election Result 2022: कांग्रेस ने मारी बाजी, जाने हर सीट के नतीजे

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है। कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

मायावती को PM बनाने की मांग, तीसरे मोर्चे में शामिल होने के लिए BSP ने रखी ये शर्त

लखनऊ. उत्तर प्रदेश से प्रधानमंत्री उम्मीदवार के लिए समाजवादी पार्टी की ओर अखिलेश यादव का नाम आने के बाद बसपा ने भी पीएम कैंडिडेट के लिए मायावती का नाम उछाला है. इस संबंध में बसपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता धर्मवीर चौधरी ने बयान जारी कर कहा कि मायावती को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया जाए तो बसपा तीसरे मोर्चे में शामिल होने के लिए पूरी तरह तैयार है.

मायावती के कद का दूसरा नेता नहीं

मायावती के पीएम उम्मीदवारी पर बसपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता धर्मवीर चौधरी का कहना है कि मायावती के कद का कोई दूसरा नेता नहीं है. धर्मवीर ने कहा कि कुछ शर्तों के साथ बसपा तीसरे मोर्चे में शामिल हो सकती है. उन्होंने कहा कि वैसे भी केंद्र में सरकार बनाने के लिए उत्तर प्रदेश का बहुत अहम योगदान है. उन्होंने कहा कि बसपा का प्रभाव बड़े वर्ग पर है, जबकि कांग्रेस का आज के समय में कोई अस्तित्व नहीं रह गया है.

इससे पहले सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन में वरिष्ठ नेता रविदास मेहरोत्रा ने कहा था कि देश में गैर भाजपा सरकार बने इसके लिए अखिलेश को प्रधानमंत्री पद का उम्मदीवार बनना चाहिए. हम ऐसा नहीं सोचते कि वो उस पद पर पहुंचे लेकिन हम यह सपना जरूर देखते हैं कि किसी तरह भाजपा सरकार सत्ता से बेदखल हो जाए. हाल में सपा सांसद हसन ने अखिलेश को पीएम पद के लिए उपयुक्त दावेदार बताया था, वहीं, रविदास मेहरोत्रा के अलावा पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने भी यही बात कही थी.

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का नाम 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए पीएम उम्मीदवार के लिए आ रहा है. गुरुवार को अखिलेश यादव सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए जो कहा उससे तो यही संकेत नजर आ रहा हैं।अखिलेश यादव ने दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान एक बार फिर मायावती पर निजी हमला नहीं बोला और न बसपा को लेकर कोई टिप्पणी की।अखिलेश यादव लोहियावादियों और आंबेडकरवादियों को साथ लेकर चलने की बात कही।अंबेडकरवादियों को साथ लेकर चलने की बात को मायावती साथ एक बार फिर से गठबंधन के संकेत के तौर पर भी देखा जा रहा है।

पाकिस्तान: शाहबाज-इमरान का ऑडियो लीक, अब आर्मी चीफ बाजवा का टेप आएगा सामने?

Latest news