Saturday, December 3, 2022

डिंपल यादव ने करवाया एका, शिवपाल बोले- “अब कभी अलग नहीं होंगे”

मैनपुरी. उत्तर प्रदेश में इस समय सियासी पारा हाई है, दरअसल, यहाँ तीन सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं. इन तीनों में मैनपुरी हॉट सीट बनी हुई है. मैनपुरी में हो रहे उपचुनाव में अखिलेश यादव ने डिंपल यादव को प्रत्याशी बनाया है. शिवपाल यादव भी डिंपल यादव का समर्थन कर रहे हैं, ऐसे में उन्होंने डिंपल का समर्थन करते हुए कहा कि अब हम एक हैं. शिवपाल ने कहा कि बहु डिंपल ने उन्हें फोन किया था और कहा था कि आ जाओ इसलिए वो आ गए. शिवपाल यादव ने बताया कि उन्होंने भी डिंपल यादव को कह दिया कि अखिलेश गड़बड़ करें वो (डिंपल) उनके साथ आ जाएं. शिवपाल ने कहा कि सब लोग कहते थे कि एक हो जाओ इसलिए अब वो सब एक हो गए हैं और अब चाहे जो हो जाए, सब एक साथ ही रहेंगे. मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को प्रत्याशी बनाया गया है.

क्या बोले शिवपाल यादव

दरअसल, कुछ सालों पहले अखिलेश यादव पर उपेक्षा का आरोप लगाकर शिवपाल यादव अलग हो गए थे और अपनी अलग पार्टी बना ली थी. उन्होंने अखिलेश यादव से अपना रास्ता अलग कर दिया था. हालांकि मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर शिवपाल यादव ने चुप्पी साधी हुई थी, वहीं नेता जी के निधन के बाद ये मांग उठने लगी थी कि शिवपाल यादव को सपा संरक्षक बना दिया जाए लेकिन तब भी शिवपाल यादव ने कुछ नहीं कहा था. ऐसे में, अब पहली बार शिवपाल यादव ने साथ आने को लेकर खुलकर बात की है. उन्होंने कहा कि “डिंपल हमसे अलग थोड़ी हैं. अब जब डिंपल ही चुनाव लड़ रही है तो हम आ गए, यह सिर्फ नेता जी के प्रतिष्ठा की बात नहीं हैं इस सीट पर हमारी भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें बहु डिंपल ने खुद फोन किया था और कहा था कि चाचा वापस आ जाओ ऐसे में वो डिंपल यादव की बात को टाल न सके और वापस आ गए.

ऐसे में, शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होंने अखिलेश को भी कह दिया कि अब वो लोग एक होकर रहेंगे. अब चाहे जो हो जाए, ये परिवार अलग नहीं होगा.

 

केजरीवाल को मारना चाहती है बीजेपी, मनोज तिवारी ने रची है साजिश- मनीष सिसोदिया

राजस्थान में सियासी तूफान लाएगा बड़ी तबाही, पायलट पर गहलोत की ओछी टिप्पणी से नाराज है आलाकमान

Latest news