नई दिल्ली. Lok Sabha elections Exit Poll 2019: देश में लोकसभा चुनाव 2019 की शुरुआत 11 अप्रैल से हुई. यह आम चुनाव 7 चरणों में पूरा हुआ. जिसका परिणाम 23 मई को आएगा. आज यानि 19 अप्रैल को वोटिंग का आखिरी चरण है और इसके बाद सभी लोग कयास लगाने में जुट गए हैं कि किस पार्टी की सरकार बनेगी. साथ ही कोई सी पार्टी सत्ता पर काबिज होगी. साथ ही आज से एग्जिट पोल दिखाने का सिलसिला शुरू हो जाएगा.

लेकिन शुरूआत में एग्जिट पोल का इस्तेमाल मीडिया के लोग विभिन्न मुद्दों पर जनता के अंदर की बात जानने के लिए इस्तेमाल करते थे. एग्जिट पोल को स्टार्ट करने का क्रेडिट श्रेय जॉर्ज गैलप और क्लॉड रोबिंसन को जाता है. सबसे पहले जॉर्ज गैलप और क्लॉड रोबिंसन ने सरकार के कामकाज पर अमेरेका के लोग क्या सोचते हैं पता लगाने की कोशिश की थी. सबसे दिलचस्प बात ये सामने आई कि सैंपल और परिणाम में अधिक अंतर नहीं पाया गया.

उस वक्त उनका वह तरीका काफी लोकप्रिय और कारगर साबित हुआ. इसके देखते हुए इसे ब्रिटेन और फ्रांस ने भी इसे अपनाने का फैसला किया. ऐसा माना जा सकता है कि यह एक तरीके से पहला एग्जिट पोल था. जिसे ब्रिटेन और फ्रांस ने पहली बार 1937 और 1938 में अपनाया था. उस वक्त सामने आए चुनाव के नतीजे एग्जिट पोल से काफी मिलते जुलते निकले.

हालांकि मूल रूप से एग्जिट पोल को स्टार्ट करने का क्रेडिट नीदरलैंड के सोशियोलॉजिस्ट मार्सेल वॉन को जाता है. मार्सेल ने पहली बार 15 फरवरी, 1967 को इसका प्रयोग डच विधानसभा चुनाव में किया था. वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट यूएस जनमत सर्वेक्षक वेरिन मिटोफस्की को एग्जिट पोल का जनक मानते हैं.

भारत में एग्जिट पोल शुरुआत में इंडिया टुडे मैगजीन में प्रमुखता से छपते थे. वर्ष 1996 में हुए लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के साथ नए आयाम जुड़ गए, जब दूरदर्शन ने 1996 में सीएसडीएस को देश भर में एग्जिट पोल की अनुमति दे दी.

Lok Sabha Elections 1962 to 2019 Gujarat Parliamentary Seats Results Winners List: गुजरात में 1962 से 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस, बीजेपी, जनसंघ, पीएसपी समेत सभी पार्टियों को कितनी सीट और कितना वोट

Farhan Akhtar Trolled Over Voting Appeal Against Sadhvi Pragya: चुनाव बीत जाने के हफ्ते बाद भोपाल के लोगों से साध्वी प्रज्ञा को वोट न देने की अपील कर ट्रोल हुए फरहान अख्तर, लोगों ने कहा- हैंगओवर उतरा नहीं क्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App