बेंगलुरु. Karnataka JDS Congress HD Kumaraswamy Govt Crisis Highlights: कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार के लिए आज शुक्रवार को फैसले की घड़ी है, क्योंकि राज्यपाल वाजुभाई पटेल ने सीएम एचडी कुमारस्वामी को आज सदन में बहुमत साबित करने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी विधानसभा में बहुमत पेश करेंगे. बीजेपी विधायकों ने रात भर विधानसभा के बाहर धरना दिया है. कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत पर लगातार चर्चा जारी है और गुरुवार को सीएम एचडी कुमारस्वामी सदन में कांग्रेस-जेडीएस सरकार का पक्ष रखते हुए बीजेपी पर हमलावर रहे. गुरुवार से विश्वास मत पर 4 दिनों तक बहस चलेगी. अगर कांग्रेस-जेडीएस सरकार फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित कर देती है तो प्रदेश में एचडी कुमारस्वामी की सरकार बच सकती है, वहीं अगर वह असफल रहती है तो कर्नाटक की राजनीति में एक बार फिर बीजेपी कमल खिलाने में कामयाब हो सकती है. बुधवार को कांग्रेस के 15 बागी विधायकों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के सुनाए फैसले के बाद तो कांग्रेस-जेडीएस सरकार के सामने फ्लोर टेस्ट में पास करने की और ज्यादा चुनौती है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर पर कह दिया है कि कांग्रेस के 15 विधायक चाहें तो वह विश्वास मत साबित करने के दौरान सदन से दूर यानी अनुपस्थित हो सकते हैं.

यहां 224 सदस्यों वाली कर्नाटक विधानसभा की मौजूदा स्थिति की बात करें तो इसमें पहले कांग्रेस के 76 (स्पीकर के साथ) और जेडीएस के 37 सदस्य थे. वहीं सदन में बीजेपी सदस्यों की संख्या 105 है. कांग्रेस-जेडीएस सरकार को 2 निर्दलीय और एक बीएसपी विधायक का भी साथ हासिल था. लेकिन वर्तमान में स्थिति बिल्कुल बदल गई है. कांग्रेस के 15 सांसद इस्तीफा दे चुके हैं और 2 निर्दलीय विधायक के बीजेपी से जुड़ने की खबरें आ रही हैं. जेडीएस के भी 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. ऐसी स्थिति में कांग्रेस-बीजेपी सरकार का स्ट्रेंथ और कम हो जाता है. ऐसे में आज विश्वास मत के दौरान कांग्रेस-जेडीएस नीत एचडी कुमारस्वामी सरकार को बहुमत साबित करने के लिए कम से कम 105 सदस्यों की जरूरत होगी. अगर एचडी कुमारस्वामी की सरकार बहुमत साबित करने में विफल रही तो बीजेपी निर्दलीय विधायकों के साथ सरकार बनाने का दावा कर सकती है.

यहां पढ़ें Karnataka JDS Congress HD Kumaraswamy Govt Crisis Highlights:

शाम 8:35 बजे- कर्नाटक का सियासी संकट फिलहाल टलता नजर नहीं आ रहा है. विधानसभा स्पीकर केआर रमेश ने सोमवार तक सदन को स्थगित कर दिया है. अब फ्लोर टेस्ट पर वोटिंग सोमवार को ही संभव है.

शाम 7:35 बजे- कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट, सदन के लोगों ओर कर्नाटक की जनता को बताना चाहते हैं कि किसी भी विधायक ने हमसे प्रोटेक्शन नहीं मांगा है. मुझे नहीं पता कि विधायकों ने सरकार को इस संबंध में लिखा हो. अगर उन्होंने सदन के किसी सदस्य को इस बात की जानकारी दी है कि वे अपनी सुरक्षा के लिए घर छोड़ रहे हैं तो वह लोगों को भ्रमित करने का काम कर रहे हैं. 

शाम 7:25 बजे- कर्नाटक में कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैय्या ने कहा कि बीजेपी का कहना है कि फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया आज ही हर हाल में पूरी हो जाए. राज्यपाल भी यही कह रहे है. लेकिन सच यह है कि हम विधायकों से उनके अधिकार नहीं छीन सकते.  सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि सोमवार को फ्लोर टेस्ट में कितना ही वक्त क्यों न लगे इसी दिन पूरा कर लिया जाएगा. सबके भाषण के बाद मुख्यमंत्री अपने अंतिम शब्द कहेंगे फिर विश्वासमत की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. सिद्धारमैय्या ने कहा कि सोमवार को ही फ्लोर टेस्ट हो.

शाम 7:00 बजे- शिवलिंगा गौड़ा ने कर्नाटक संकट पर कहा कि अगर आपको तीन पार्टियों का समर्थन मिलता है तो यह साबित नहीं होता है कि यह आपकी गठबंधन सरकार है. अगर येदियुरप्पा सरकार गठित कर लेते हैं तो क्या यह जनता का बहुमत होगा. यह एंटी डिफेक्शन लॉ का उल्लंघन है. इस कानून की शुरुआत येदियुरप्पा के कार्यालय में हुई थी. क्या ऐसी सरकार को कभी बहुमत मिलना चाहिए.

शाम 6:19 बजे- कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा स्पीकर से पूछा कि स्पीकर महोदय हम सोमवार को फ्लोर टेस्ट के लिए वोटिंग कर सकते हैं. बहुत सारे विधायकों ने कहा है कि वह अब घर जाना चाहते हैं. विधानसभा स्पीकर ने मुख्यमंत्री कुमारस्वामी की बात पर कहा कि क्या आप चाहते है, सोमवार को ऐसा ही हो. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा कि हां हम यह सोमवार को कर सकते हैं. इस बात पर बीजेपी ने कहा कि हम इस पर सहमत नहीं हैं.

शाम 5:00 बजे- कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में कहा कि फ्लोर टेस्ट पर निर्णय करने का अधिकार में विधानसभा अध्यक्ष के ऊपर छोड़ता हूं. इसे दिल्ली से निर्देशित नहीं होना चाहिए. मैं प्रार्थना करता हूं कि राज्यपाल की ओर से भेजी गई चिट्ठी से मेरी रक्षा की जाए.

शाम 4:45 बजे- कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि मेरे मन में राज्यपाल के प्रति बहुत आदर है, लेकिन राज्यपाल जी के दूसरे लव लेटर ने मुझे दुख पहुंचाया है. क्या उनको 10 दिन पहले ही होर्स ट्रेडिंग के बारे में जानकारी मिली. इसके साथ ही मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने एक तस्वीर भी दिखाई जिसमें बीएस येदियुरप्पा पीए संतोष और निर्दलीय विधायक एच नागेश के साथ बैठे हुए हैं.

शाम 4:18 बजे- मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने  कहा कि मेरे पास राज्यपाल की तरफ से दूसरा लव लेटर आया है. राज्यपाल कह रहे हैं कि होर्स ट्रेडिंग हो रही है जो विधानसभा के लिए ठीक नहीं है.

शाम 4:00 बजे- कर्नाटक कांग्रेस के बाद मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी दोबारा सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. उनका कहना है कि पार्टी को व्हिप जारी करने का अधिकार है, ऐसे में इसका पालन होना चाहिए.

शाम 3:45 बजे- कर्नाटक के राज्यपाल वाजुभाई पटेल ने कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी को फिर से लेटर लिखा है और कहा है एचडी कुमारस्वामी आज शाम 6 बजे तक बहुमत साबित करें. इससे पहले वाजुभाई पटेल ने आज दोपहर 1:30 बजे कांग्रेस-जेडीएस सरकार के सीएम को विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा था, लेकिन ऐसा हो नहीं सका. इस बीच विधायकों की खरीद-फरोख्त की कोशिश का आरोप लगा कांग्रेस बीजेपी पर हमला कर रही है. 

शाम 3:30 बजे- कर्नाटक में जारी राजनीतिक संकट के बीच विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला भी सुर्खियों में है. इस बीच बीजेपी नेता आर. अशोक ने कहा कि कांग्रेस द्वारा बीजेपी नेताओं पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाना जायज नहीं है. उन्होंने कांग्रेस के हॉर्स राइडिंग के आरोपों का खंडन किया और कहा कि उन्हें विश्वास है कि स्पीकर सही फैसला लेंगे. आर. अशोक ने कांग्रेस पर निशाना साधा.

दोपहर 2:10 बजे- कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट से पहले विधानसभा में जारी बहस के बीच प्रदेश के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने कहा है कि सदन में बहस पूरी नहीं हुई है और 20 विधायकों ने बहस में भागीदारी भी नहीं निभाई है. मुझे नहीं लगता कि बहस आज पूरी भी होगी और यह सोमवार तक चलेगी.  

दोपहर 1:40 बजे- भारी हंगामे के बीच कर्नाटक विधानसभा 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. वहीं राज्यपाल के निर्देश पर सीएम एचडी कुमारस्वामी के बहुमत पेश करने की समय सीमा भी समाप्त हो गई है. स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि राज्यपाल के निर्देशानुसार फ्लोट टेस्ट में हिस्सा लेने या न लेने का अधिकार मुख्यमंत्री को है, क्योंकि गवर्नर ने उन्हें लेटर भेजा है.

दोपहर 1:00 बजे- कर्नाटक की राजनीति करवट बदलेगी या नहीं, इसका आज फैसला होने की संभावना है. इस बीच कर्नाटक विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कांग्रेस के बागी विधायक श्रीमंत पाटिल के बारे में बताया कि पाटिल ने मुझे लेटर लिखकर बताया कि वह निजी काम से चेन्नई गए थे, जहां उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई और वह डॉक्टर की सलाह पर मुंबई आ गए और वहां अस्पताल में एडमिट हो गए. इस वजह से वह विधानसभा के मॉनसून सत्र में हिस्सा नहीं ले सके. पाटिल ने कहा कि मुझे बीजेपी ने किडनैप नहीं किया था. 

शुक्रवार सुबह 10.30 बजे- कर्नाटक के राज्यपाल ने कांग्रेस-जेडीएस की एचडी कुमारस्वामी सरकार को आज दोपहर 1:30 बजे सदन में बहुमत साबित करने को कहा है, जिसे लेकर कांग्रेस नेता नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. कर्नाटक से कांग्रेस के सांसद नासिर हुसैन ने कहा है कि कांग्रेस को गवर्नर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करनी चाहिए, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले में राज्यपाल का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए. राज्यपाल को ऐसा कोई अधिकार नहीं है.

शुक्रवार सुबह 10.00 बजे- कर्नाटक की राजनीति में भले काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहे हैं, लेकिन इन सबके बीच बीजेपी, जेडीएस और कांग्रेस नेताओं की बीच-बीच में हंसते-प्यार से बोलते तस्वीरें भी आ रही हैं, जिसे देख लगता है कि राजनीतिक रिश्तों की कड़वाहट आपसी रिश्तों की मिठास में जरूर घुल जाती है. ऐसा ही नजारा शुक्रवार सुबह कर्नाटक विधानसभा के अंदर और बाहर दिखा, जहां सभी दलों के नेता आपस में हंसते-बोलते दिखे.  

शुक्रवार सुबह 9.00 बजे- कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की एचडी कुमारस्वामी सरकार से बहुमत साबित करने की मांग पर अड़े बीेजेपी विधायकों ने गुरुवार रात भर विधानसभा के बाहर धरना दिया. कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी. परमेश्वरा ने कहा कि राजनीति से इतर हम सभी दोस्त हैं और हमारी सरकार ने बीजेपी विधायकों के लिए खाने, रहने का प्रबंध करने के साथ ही मेडिकल सुविधाएं भी मुहैया कराई, क्योंकि कुछ विधायकों को ब्लड प्रेशर और डायबिटीज की भी समस्याएं हैं. 

शुक्रवार सुबह 8.00 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संकट के बीच एचडी कुमारस्वामी सरकार से बहुमत साबित करने की मांग को लेकर बीजेपी विधायकों ने गुरुवार की रात सदन में धरना दिया. शुक्रवार सुबह बीजेपी विधायक मॉर्निंग वॉक के लिए निकले. कर्नाटक के राज्यपाल वाजुभाई पटेल ने सीएम को आज दोपहर 1:30 बजे सदन में बहुमत साबित करने के लिए लेटर लिखा है.

शाम 6.40 बजे-  बेंगलुरु बीजेपी ने ट्वीट कर कहा कि हमारे विधायक आज पूरी रात विधानसभा के बाहर धरना देंगे, उनकी मांग है कि स्पीकर को राज्यपाल की बात मानते हुए फ्लोर टेस्ट करना चाहिए

शाम 6.10 बजे- कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आज नहीं होगा. स्पीकर ने कल सुबह 11 बजे तक सदन स्थगित कर दी है. बीजेपी विधायक आज रात विधानसभा के बाहर धरने पर बैठेंगे.

शाम 5.10 बजे-गवर्नर वाजूभाई वाला ने स्पीकर से अनुरोध किया है कि वो आज शाम तक फ्लोर टेस्ट करवा लें. कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने मोशन ऑफ कॉन्फिडेंस लगाया था जिसपर विचार होना बाकी है. राज्यपाल ने स्पीकर के आर रमेश को संदेश भेजा है कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल में सदन में बहुमत को बरकार रखा है इसलिए मैं सदन को ये संदेश देना चाहता हूं कि आज शाम तक फ्लोर टेस्ट करवा लें.

शाम 4.40 बजे- कर्नाटक में सत्ता का हाईवोल्टेज ड्रामा जारी, राजभवन के अधिकारी स्पीकर के दफ्तर पहुंचे. थोड़ी देर पहले स्पीकर की शिकायत लेकर राज्यपाल से मिले थे बीजेपी के नेता

शाम 4.00 बजे-कर्नाटक विधानसभा के पूर्व स्पीकर जगदीश शेट्टार ने गवर्नर से मीटिंग के बाद कहा कि बहुमत साबित करने के लिए सीएम ने आज का दिन निर्धारित किया था लेकिन जैसे ही मोशन आगे बढ़ा और बहस शुरू हुई वैसे ही सिद्धारमैया, कृष्णा बाइरे गौड़े और एच के पाटिल ने आर्डर के प्वाइंट को आगे कर दिया. हम गवर्नर साहब से अनुरोध करते हैं कि वो स्पीकर को आदेश दें कि वो सरकार को बहुमत साबित करने को कहें.

दोपहर 3.00 बजे-  स्पीकर की शिकायत लेकर राज्यपाल वजुभाई वाला से मिले बीजेपी नेता. स्पीकर पर फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया में देरी करने का आरोप लगाया. बीजेपी नेताओं ने राज्यपाल से अनुरोध किया है कि वो आज ही फ्लोर टेस्ट का आदेश करें. पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार की अध्यक्षता में बीजेपी नेताओं का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिला था.

दोपहर 2.00 बजे- कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी सरकार द्वारा विश्वास मत पर बहस जारी है. इस बीच विधानसभा को 3  बजे तक स्थगित कर दिया गया है. इस बीच कांग्रेस के सीनियर नेता डीके शिवकुमार और बीजेपी विधायक बी. श्रीरामुलू का एक वीडियो और फोटो वायरल हो गया है जिसमें दोनों नेता खाली सदन में एक दूसरे से बातचीत करते दिख रहे हैं. 

दोपहर 1.40 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संकट को लेकर विधानसभा में विश्वास मत पर बहस जारी है. कांग्रेस नेता और कर्नाटक से पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने बागी विधायकों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के सुनाए फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर हम विश्वास मत पर आगे बढ़ते हैं और विधायकों की सदन में उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए व्हिप जारी करते हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले की वजह से विधायक सदन नहीं आते हैं तो यह गठबंधन सरकार के लिए भारी नुकसानदेह है.

दोपहर 1.40 बजे- कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी सरकार के विश्वास मत पर बहस के दौरान कांग्रेस-जेडीएस और बीजेपी नेताओं के बीच सदन में जमकर जुबानी जंग चल रही है. कांग्रेस के सीनियर नेता डीके शिवकुमार ने गुरुवार की दोपहर कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्व सीएम देश और अदालत को गुमराह कर रहे हैं.

दोपहर 1.10 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संकट की गूंज गुरुवार को राज्यसभा में भी सुनाई दे रही है. गुरुवार दोपहर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी सांसदों ने कर्नाटक में जारी राजनीतिक रस्साकशी को लेकर हंगामा किया, जिसके बाद राज्यसभा से उपसभापति हरिवंश  नारायण सिंह ने सदन को स्थगित कर दिया. 

दोपहर 12.47 बजे- कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर ने विश्वास प्रस्ताव बहस के दौरान कहा, यदि आप सुप्रीम कोर्ट के सामने उत्तरदाताओं में से एक के रूप में खुद को दिखाने का इरादा रखते हैं, तो आप ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं. जब कोई सदस्य नहीं आने का फैसला लेता है, तो हमारे परिचारक उन्हें उपस्थिति के रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने की अनुमति नहीं देंगे. संबंधित सदस्य सदन में उपस्थित होने के लिए तैयार किए जाने वाले किसी भी नियम का हकदार नहीं होगा.

दोपहर 12.35 बजे- विश्वास मत प्रस्ताव के दौरान हंगामा हुआ. कांग्रेस-बीजेपी विधायकों में बहस हुई. कर्नाटक स्पीकर ने कहा, यह सदन सर्वोच्च न्यायालय का सर्वोच्च सम्मान रखता है. मुझे कांग्रेस विधायक दल के नेता को स्पष्ट कर देना चाहिए कि यह कार्यालय आपके किसी भी अधिकारी को अधिकार का इस्तेमाल करने से नहीं रोक रहा है. मेरी इसमें कोई भूमिका नहीं है.

दोपहर 12.20 बजे- कर्नाटक सीएम, एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में विश्वास मत बहस के दौरान कहा, मेरा स्वाभिमान है और मेरे मंत्रियों का भी. मुझे कुछ स्पष्टीकरण देना है. इस सरकार को अस्थिर करने के लिए कौन जिम्मेदार है?

दोपहर 12 बजे- कर्नाटक विधानसभा में जहां विश्वास मत पर चर्चा हो रही है और एचडी कुमारस्वामी और उनकी सरकार के अहम मंत्री अपना पक्ष रहे हैं, वहीं उनके गठबंधन सहयोगी बीएसपी के एन. महेश सदन से नदारद हैं जो कि सरकार के लिए चिंता का सबब है. कांग्रेस के एक बागी सांसद श्रीमंत पटेल को सीने में दर्द के कारण मुंबई स्थित हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है.

सुबह 11:55 बजे- कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत पर चर्चा के दौरान बीजेपी के सीनियर नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वह एचडी कुमारस्वामी सरकार को 105 सदस्यों का लक्ष्य देते हैं, क्योंकि उनके पास 105 बीजेपी विधायक हैं. वहीं सदन में उस समय कांग्रेस और जेडीएस नेताओं के चेहरे पर थोड़ी राहत दिखी, जब बागी कांग्रेस विधायक रामलिंगा रेड्डी सदन पहुंचे. वहीं कांग्रेस के अन्य बागी विधायक सदन नहीं पहुंचे हैं जो कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार के लिए चिंता का विषय है.

सुबह 11:45 बजे- कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत पर चर्चा हो रही है. सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा काफी हड़बड़ी में हैं और स्पीकर का औचित्य खत्म करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के बागी विधायक बीजेपी की मदद से सुप्रीम कोर्ट पहुंचे.

सुबह 11:35 बजे- भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने बेंगलुरु में 105 सीट का दावा किया है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस को वो विश्वास मत के दौरान हरा देंगे और दावा किया है कि कांग्रेस के 100 से कम वोट होंगे. वहीं एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि येदियुरप्पा हड़बड़ी में हैं.

सुबह 11:15 बजे- कर्नाटक विधानसभा में एचडी कुमारस्वामी सरकार द्वारा पेश किए जाने वाले विश्वास मत पर चर्चा शुरू हो चुकी है. सीएम एचडी कुमारस्वामी सदन में कांग्रेस-जेडीएस सरकार का पक्ष रख रहे हैं. कुछ देर में विश्वास मत पर वोटिंग होनी है और इससे बाद पता चलेगा कि प्रदेश में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बचती है या नहीं.

सुबह 10:50 बजे- आज कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार के लिए परीक्षा का दिन है. एचडी कुमारस्वामी सरकार को 2 साल भी नहीं हुए कि बागी कांग्रेस विधायकों के कारण राजनीतिक संकट की स्थिति बन गई. आज एचडी कुमारस्वामी सरकार को सदन में विश्वास मत साबित करना है, जो कि उनके लिए कठिन चुनौती है. एचडी कुमारस्वामी अन्य विधायकों के साथ कर्नाटक असैंबली पहुंच चुके हैं.

सुबह 10:45 बजे- कांग्रेस-जेडीएस सरकार द्वारा विश्वास मत साबित करने से पहले कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी-कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं का आगमन शुरू हो गया है. बीजेपी के सीनियर नेता बीजेपी विधायकों को लेकर विधान सौध पहुंचे. वहीं कांग्रेस नेता सिद्धारमैया भी विधानसभा पहुंचे.

सुबह 10:40 बजे- आज कर्नाटक राजनीति और वहां की जनता के साथ ही कांग्रेस, बीजेपी और जेडीएस के लिए अहम दिन है. आज एचडी कुमारस्वामी सरकार विश्वास मत साबित करेगी. एचडी कुमारस्वामी सरकार के फ्लोर टेस्ट में फेल होने पर बीजेपी के पास सरकार बनाने का मौका हो सकता है. इससे पहले गुरुवार की सुबह बीजेपी के सीनियर नेता और कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि कांग्रेस-जेडीएस की सरकार विश्वास मत साबित नहीं कर पाएगी. हमारे पास 105 सदस्य हैं.