Karnal Protest Update

करनाल, हरियाणा. ख़बर एक बार फिर करनाल किसान आंदोलन से है. जहाँ किसान और प्रशासन के बीच सहमति बनती हुई नज़र आ रही है. बताया जा रहा है कि करनाल में किसानों का धरना अब पूरी तरह ख़त्म होने जा रहा है. दरअसल, जिला प्रशासन और किसानों में समझौता हुआ है. जिसके बाद किसानों ने अपना धरना ख़त्म करने की बात की है. इस तरह करनाल के मिनी सचिवालय के बाहर तीन दिनों से चल रहा गतिरोध अब समाप्‍त हो गया है. बता दें कि बीते दिनों किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लाठी चार्ज की थी. अब ख़बर है कि हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज इस मामले की जांच करेंगे. और इस दौरान एसडीएम आयुष सिन्‍हा छुट्टी पर रहेंगे.

लाठीचार्ज में जान गंवाने वाले परिवार को मिलेगी नौकरी

इसी बीच करनाल प्रशासन ने 28 अगस्त को लाठीचार्ज में मृतक किसान के परिवार को नौकरी देने का वादा किया है. ये नौकरी पीड़ित परिवार के दो सदस्यों को एक हफ्ते के भीतर दी जाएगी.

यह थी आंदोलन की असल वजह

आंदोलन की असल वजह की बात करें तो यह 28 अगस्त के लाठीचार्ज के बाद भड़कना शुरू हुआ था. दरअसल, 28 अगस्त को पुलिस ने बसताड़ा टोल प्लाजा पर किसानों पर लाठीचार्ज किया था. इस दौरान पुलिस लाठीचार्ज में घायल हुए करनाल के रायपुर जाटान गांव के किसान सुशील काजल की मौत हो गई थी. जिससे दुसरे समर्थक किसान बेहद आक्रोशित हो गए थे. इस पर संयुक्त किसान मोर्चा का कहना था कि बीते 28 अगस्त को तत्कालीन एसडीएम आयुष सिन्हा ने पुलिस को सीधे तौर पर किसानों के सिर फोड़ने का आदेश दिए थे. जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और उनकी लाठीचार्ज से किसानों के एक साथी सुशील काजल की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : 

Delhi Airport Flooded After Record Rain : दिल्ली एयरपोर्ट बना समंदर, पानी में डूब रहे हवाई जहाज

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर