मुबंई: इंडिया न्यूज के मंच कार्यक्रम में एनसीपी नेता और राज्यसभा सांसद प्रफुल्ल पटेल से गठजोड़ की राजनीति पर चर्चा हुई. मराठा रिजर्वेशन पर उन्होंने कहा कि करीब सभी का विचार यही है कि इन्हें इंसाफ मिलना चाहिए. पटेल ने कहा कि हमारे देश को आजाद हुए 70 साल हुए हैं. इसमें इन सब बातों का हल लोकतांत्रिक तरीके से हल निकाला जा सकता है. हमारे देश में बहुत सारी चीजों में इंबेलैंस हो रहा है. सारी चीजें ठीक होने में समय लगता है. आरक्षण को हमें सही परिप्रेक्ष्य में देखना चाहिए. मराठाओं को न्याय मिलना चाहिए.

जब उनसे पूछा गया कि क्या एनसीपी और कांग्रेस साथ साथ हैं ? इस पर उन्होंने कहा कि सच यह है कि आज हम अपोजिशन में हैं. उन्होंने कहा कि आज विपक्षी पार्टियां अलायंस बना रही हैं ऐसे में एनसीपी भी विपक्ष में ही है. आने वाले समय में राजनीति की दिशा क्या रहेगी यह कोई नहीं बता सकता. उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस के साथ पहले भी रहे हैं. लेकिन आगामी समय में क्या रणनीति रहेगी इसके बारे में नहीं कहा जा सकता. इस पर उनकी तरफ से साफ हो गया कि अभी एनसीपी के सारे विकल्प खुले हैं.

जब उनसे पूछा गया कि क्या एनसीपी शिवसेना की जगह लेने जा रही है. इस पर उन्होंने कहा कि शिवसेना भले ही बीजेपी को धमकी देती है लेकिन वह उसे छोड़ेगी नहीं. चुनाव अलग लड़ेगी लेकिन फिर भी बीजेपी के साथ ही रहेगी. ऐसे में कोई उनकी बातों को सीरियस नहीं लेगा. अगर वे विरोध कर सत्ता छोड़ते हैं तभी लोग सीरियस मानेंगे. वहीं पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ एकजुट हो रहे विपक्षी गठबंधन पर भी उन्होंने खुलकर बात रखी. प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि जिस तरह से विपक्ष एकजुट हो रहा है वह कामयाब नहीं होगा क्योंकि उसकी एकता बगैर एजेंडे के है. अगर कोई एजेंडा होता तो गठबंधन को कामयाबी मिल सकती थी.

महाराष्ट्र मंच: परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, अच्छे दिन मानने वाले पर निर्भर

महाराष्ट्र मंच: बीजेपी सासंद पूनम महाजन बोलीं- हिंदू पाकिस्तान कहने वाले शशि थरूर भारत के सबसे बड़े ट्रोल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App