पाटनः गुजरात चुनाव के पहले चरण की वोटिंग खत्म हो चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बीच जुबानी जंग जारी है. शनिवार को राहुल गुजरात के पाटन में दूसरे चरण के चुनावी प्रचार के लिए पहुंचे. चुनावी रैली में राहुल ने पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला. राहुल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री तो मणिशंकर अय्यर के बयान पर खूब बात करते हैं लेकिन वह गुजरात में करप्शन को भूल गए. पीएम अब रोजगार की बात नहीं करते हैं. कुछ करीबी कारोबारियों को गुजरात के किसानों की बेशकीमती जमीन बेहद सस्ती दर पर दे दी गई.’

राहुल ने आगे कहा, ‘नोटबंदी के दौरान पीएम मोदी ने पूरे देश को लाइन में लगा दिया. नोटबंदी से सबसे अधिक काले धन वालों को फायदा हुआ. क्या कोई सूट-बूट वाला पैसों के लिए लाइन में खड़ा दिखा? नोटबंदी से बात नहीं बनी तो गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) लागू कर दिया. गब्बर सिंह टैक्स में पांच तरह के टैक्स हैं. पीएम मोदी को बताना चाहिए कि वह चौकीदार हैं या भागीदार.’

राहुल यहीं नहीं रुके, उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए आगे कहा, ‘ नोटबंदी जादू का खेल है, 33 हजार करोड़ रुपये, आपकी जमीन, आपकी बिजली.. सब गायब हो गया. मजा आ गया लेकिन किसको 5-10 उद्योगपतियों को. बाद में यह जमीन उद्योगपतियों ने बेहद महंगी दर पर बेच डाली. इससे सबसे ज्यादा नुकसान गुजरात की जनता को हुआ. नोटबंदी की आंधी से जादू हुआ और जादू से निकली जयशाह की कंपनी.’

राहुल ने आगे पूछा, ‘राफेल डील पर पीएम मोदी खामोश क्यों हैं? क्या अपनी कैबिनेट से बिना पूछे पीएम ने फ्रांस में घोषणा कर दी थी? गुजरात चुनाव के चलते पीएम ने संसद बंद कर दी. केंद्र सरकार के सभी मंत्री गुजरात में डेरा डाले हुए हैं. इसका जवाब कौन देगा? बीजेपी जनता को भ्रमित करने के लिए बार-बार मुद्दा बदल लेती है.’ राहुल ने आगे कहा कि यह चुनाव राहुल गांधी या नरेंद्र मोदी का नहीं बल्कि यह चुनाव देश के भविष्य के बारे में है. गुजरात की जनता यह तय करेगी कि उसे किस दिशा में जाना है. कांग्रेस गुजरात को विकास के पथ पर ले जाना चाहती है और पार्टी का यह प्रयास जारी रहेगा.

इसी बीच राहुल गांधी ने शनिवार को पीएम मोदी से अपना 11वां सवाल पूछा. राहुल ने ट्वीट पर पीएम से पूछा, ‘80% इंजीनियर बैठे हैं बेकार, टाटा नैनो जुमला, चली नहीं यह कार. नौकरी मांगने वालों को मिलती है गोली, युवा के भविष्य की लगा दी आपने बोली. बेची शिक्षा, बेची परीक्षा, स्कूल-कॉलेज बन गए दुकान. शिक्षा केंद्रों का मोदीजी क्यों बेच दिया ईमान?’ गौरतलब है कि इससे पहले राहुल गांधी पीएम से शिक्षा, किसानों की दशा, रोजगार, नोटबंदी, जीएसटी जैसे गंभीर मुद्दों पर 10 सवाल पूछ चुके हैं.

 

गुजरात चुनाव 2017: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, गुजरात की जनता मुझे गाली देने वालों पर Vote से चोट करें

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App