मुंबई, महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर पर शुरू हुई रार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही हैं. औरंगाबाद में रैली के दो दिन बाद मनसे प्रमुख राज ठाकरे समेत 4 लोगों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है. साथ ही, महाराष्ट्र सरकार ने राज ठाकरे को धमकी दी है कि अगर उन्होंने या उनकी पार्टी ने कोई भी नुकसान पहुँचाया तो उनकी संपत्ति से उसकी वसूली की जाएगी.

मेरी जनसभाओं से सरकार बौखला गई है- राज ठाकरे

औरंगाबाद मामले में राज ठाकरे, राजीव जेवलिकर और अन्य रैली आयोजकों के खिलाफ धारा 116, 117, 153 और 1973 के 135 महाराष्ट्र पुलिस कानून 1951 के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस पूरे मामले की जांच पुलिस निरीक्षक अशोक गिरी कर रहे हैं. बता दें बीते दिन एक रैली में राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे पर हमला करते हुए कहा था कि उनकी जनसभाओं से सरकार बौखला गई है.

अब किसी की नहीं सुनेंगे- राज ठाकरे

बीते दिनों राज ठाकरे ने ये भी कहा था कि उन्होंने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए सरकार को 3 मई तक के लिए अल्टीमेटम दिया था. लेकिन 3 मई को ईद है और वो इस उत्सव को खराब नहीं करना चाहते हैं. इसलिए वो 4 मई तक इंतज़ार करेंगे, अगर 4 मई तक लाउडस्पीकर नहीं हटे तो 4 मई के बाद तो वो किसी सरकार की नहीं सुनेंगे और मस्जिदों के सामने दोगुनी ताकत से हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे.

वहीं, राज ठाकरे के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर औरंगाबाद पुलिस ने कहा कि ये कार्रवाई रैली के वीडियो देखने के बाद की गई है. महाराष्ट्र पुलिस का कहना है कि सौहार्द बिगाड़ने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.

 

जोधपुर हिंसा: झंडा लगाने को लेकर दो पक्षों में पत्थरबाजी, 3 पुलिसकर्मी घायल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर