राहुल गाँधी ने कल मोदी सरकार पर निशाना साधा था, जिसके बाद आज निर्मला सीतारमण ने उन पर पलटवार किया है. उन्होंने राहुल गाँधी पर हमला बोलते हुए उनसे सवाल पूछा है कि क्या उन्हें मॉनेटाइजेशन का मतलब भी पता है?

क्या है नेशनल मॉनेटाइजेशन पाइपलाइन प्रोग्राम

बीते दिनों निर्मला सीतारमण ने नेशनल मॉनेटाइजेशन पाइपलाइन प्रोग्राम की शुरुआत की थी, जिसके तहत राष्ट्रीय राजमार्ग, रेलवे रूट, स्टेडियम, वेयरहाउस, पावर ग्रिड पाइपलाइन जैसी सरकारी बुनियादी ढांचा संपत्तियों को निजी क्षेत्र की कमाई के लिए लीज पर देकर केंद्र की मोदी सरकार करीब 6 लाख करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी कर रही है. हालांकि वित्त मंत्री का कहना है कि इन संपत्तियों का मालिकाना हक़ सरकार के पास ही रहेगा, इन्हें बस कमाने के लिए कंपनियों को दिया जा रहा है. इस स्कीम पर राहुल गाँधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कल प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा था कि मोदी सरकार सब कुछ बेच रही है, 70 साल तक भारत में जो कुछ भी जमा पूंजी आई सरकार ने सब बेच दिया. राहुल गाँधी के इस बयान पर अब निर्मला सीतारमण ने पलटवार कर कहा है कि कांग्रेस सरकार 2008 में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए RFP (प्रस्ताव के लिए अनुरोध) नहीं लाई थी? मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि अब रेलवे स्टेशन का मालिक कौन है? जीजा जी ?