नई दिल्ली, खराब दौर से गुजर रही कांग्रेस पार्टी अब एक्टिव मोड में नज़र आ रही है, आत्म मंथन के लिए कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर राजस्थान के उदयपुर में आयोजित होने जा रहा है. वहीं, दूसरी ओर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक चल रही है, सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गाँधी भी मौजूद रहे, बैठक के दौरान सोनिया ने कहा कि ये पार्टी का क़र्ज़ चुकाने का समय है.

चिंतन शिविर में शामिल होंगे 400 सहयोगी दल

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बताया कि “उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर में हमारे करीब 400 सहयोगी शामिल होंगे. इनमें से अधिकतर लोग पार्टी के संगठन या केंद्र की सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं. उन्होंने कहा कि ये कांग्रेस पार्टी के क़र्ज़ चुकाने का समय है. निश्चित रूप से इस समय हमें आत्म आलोचना की जरूरत है लेकिन ये इस तरह नहीं किया जाना चाहिए जिससे हमपर कोई नकारात्मक असर पड़े, या आत्मविश्वास में कमी आए.”

उन्होंने पार्टी में संतुलन सुनिश्चित करने के लिए हर संभव कोशिश करने का दावा करते हुए कहा कि हम चिंतन शिविर के दौरान छह समूह में विचार-विमर्श आयोजित करेंगे, इसमें हम अपनी खामियों पर विचार करेंगे. बता दें इस चिंतन शिविर में राजनीतिक और संगठन से जुड़े मुद्दों के साथ ही आर्थिक, सामाजिक न्याय, किसान, युवाओं के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. इसके लिए शिविर में शामिल होने वाले लोगों को बता दिया गया है कि वे किस समूह में शामिल होंगे. चिंतन शिविर से निकले निचोड़ को 15 मई की दोपहर कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में मंजूरी मिलने के बाद उदयपुर नवसंकल्प को हम अपनाएंगे.

 

बिहार में बीपीएससी पेपर लीक, भोजपुर के परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थियों ने किया जमकर हंगामा, जांच कमेटी गठित

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर