सहारनपुर. राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनावी जीत के बाद जिस बात का डर कांग्रेस को सता रहा था, वो अब सामने आने लगा है. इन तीनों राज्यों में मुख्यमंत्री पद के लिए जो सर-फुटौवल मची उसे पूरे देश ने देखा. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भले ही सीएम के ऐलान से पहले संभावित सीएम प्रत्याशियों के साथ फोटो ट्वीट कर रहे हो, लेकिन पार्टी कार्यकर्ता अपने चहेते नेता को सीएम नहीं बनता देख नाराज है. कार्यकर्ताओं की उग्र नाराजगी की एक तस्वीर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से सामने आई है. जहां गुर्जर समाज के लोगों ने सचिन पायलट नहीं बनाए जाने से नाराज होकर राहुल गांधी का पुतला फूंका.

बताते चले कि मूलरूप से यूपी से ताल्लुक रखने वाले सचिन पायलट गुर्जर समाज से ही आते हैं. सचिन पायलट के परिवार की दो पीढ़ी राजस्थान में कांग्रेस का झंडा बुलंद कर चुकी है. पिता राजेश पायलट के बाद सचिन पायलट राजस्थान में कांग्रेस दिग्गज नेता माने जाते है. विधानसभा चुनाव प्रचार में भी सचिन पायलट ने पूरी मेहनत कर पार्टी की जीत के लिए काम किया. लेकिन जीत के बाद कांग्रेस आलाकमान वरिष्ठ नेता और राजस्थान में दो बार मुख्यमंत्री रह चुके अशोक गहलोत के हाथों में बागडोर दे दी. इससे सचिन पालयट के सर्मथक कांग्रेस कार्यकर्ताओं में निराशा है.

हालांकि राजस्थान में सचिन पायलट को डिप्टी सीएम बनाया गया है. लेकिन सचिन के सर्मथक उससे संतुष्ट नहीं है. शनिवार को उत्तरप्रदेश के सहारनपुर में अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली रोड हाईवे को जाम कर सांकेतिक रूप से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पुतला फूंका. अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के महामंत्री नीरज चौधरी ने कहा कि एक तरफ राहुल गांधी युवाओं की बात करते है. वहीं दूसरी ओर राजस्थान और मध्य प्रदेश युवा उम्मीदवारों को दरकिनार कर बुर्जुगों को सीएम बना दिया. राहुल गांधी ने राजस्थान में सचिन पायलट को सीएम न बना कर युवाओं का अपमान किया है.

Rafale Deal Controversy: सुप्रीम कोर्ट के फैसले में राफेल डील पर सीएजी रिपोर्ट और पीएसी जांच कहां से आया जब रिपोर्ट आई ही नहीं ? 

Sachin Pilot on Rajasthan Chief Minister Post: मुख्यमंत्री पद के लिए सचिन पायलट ने ठोंकी दावेदारी, बोले- राजस्थान के लिए बहुत काम किया 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App