नई दिल्ली. आगामी लोकसभा चुनाव 2019 को मद्देनजर रखते हुए देश की पूर्व सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस ने आज अपने चुनावी घोषणापत्र का ऐलान किया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनावी मैनिफैस्टो को जारी करते हुए बताया कि इस घोषणापत्र के अन्तर्गत पांच थीमों का रखा गया है, जिनमें न्याय योजना, युवाओं को रोजगार, किसान कर्ज माफी, शिक्षा और स्वाथ्य के साथ देश की सुरक्षा को रखा गया है. कांग्रेस के घोषणा पत्र में देश की सुरक्षा के अन्तर्गत राष्ट्रीय सुरक्षा, आतंरिक सुरक्षा, विदेश नीति, सीमा सुरक्षा आदि पर विशेष रुप से ध्यान दिया गया है. इसके साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस चुनावी घोषणापत्र के जरिये यह वादा भी किया है कि अगर देश में उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो वह आर्म्ड फोर्स स्पेशल पावर एक्ट (AFSPA) में संशोधन करेंगे, जोकि मुख्य रुप से जम्मू-कश्मीर और नॉर्थ इस्ट के राज्यों में लागू है.

कांग्रेस की ओर जारी इस चुनावी घोषणापत्र में देश की सुरक्षा को हित में रखा गया, जिसमें कई अहम मुद्दों को शामिल किया गया है. वो कुछ इस प्रकार हैं-

राष्ट्रीय सुरक्षा
लोकसभा चुनाव 2019 को जहन में रखते हुए कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में चर्चा करते हुए यह बताया कि कांग्रेस देश की अंखडता की रक्षा करने और देशवासियों की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए रणनीतिक एवं कठोर कदम उठाने का वायदा करती है.

21वीं सदी में देश को सुरक्षित करने के लिए, सीमाओं की सुरक्षा के साथ-साथ, डाटा सुरक्षा, साइबर सुरक्षा, वित्तीय सुरक्षा, संचार सुरक्षा, व्यापार मार्गों को सुरक्षित करने की आवश्यकता है, कांग्रेस इन सभी क्षेत्रों में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त नीतियां और कार्यक्रम बनाएगी. कांग्रेस रक्षा से संबंधित मामलों पर सरकार के प्रमुख सलाहकार के रूप में रक्षा स्टाफ के प्रमुख (सीडीएस) के कार्यालय की स्थापना करगी. वहीं कांग्रेस राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) के कार्यालय को वैधानिक आधार प्रदान करेगी.

आंतरिक सुरक्षा
आतंरिक सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस ने अपने मैनिफेस्टो में यह जिक्र किया है कि कांग्रेस का वायदा है कि NCTC की स्थापना सिर्फ 3 महीने के भीतर कर दी जायेगी तथा NATGRID को साल के अंत अर्थात दिसम्बर 2019 तक शुरू कर दिया जायेगा. साम्प्रदायिक दंगा, जातीय हिंसा, महिलाओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर अपराध तथा किसी भी प्रकार की कानून व्यवस्था टूटने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है, कांग्रेस इसके लिए जिला प्रशासन को जवाबदेह बनायेगी.

विदेश नीति
कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणापत्र के तहत यह बताने की कोशिश की है अगर देश में उनकी सत्ता आती है तो वह विदेश नीति पर विशेष कार्य करेंगे. कांग्रेस के मुताबिक कांग्रेस मित्रता, शान्तिपूर्ण सह-अस्तिव, गुटनिरपेक्षता और स्वतंत्रता के विचार के साथ विभिन्न देशों के साथ द्विपक्षीय संबन्ध बढ़ाने की दिशा में कार्य करगी.

पाकिस्तान का जिक्र करते हुए कांग्रेस ने बताया कि हम दुनिया के आम देशों को पाकिस्तान पर दबाव बनाने के लिए लामबंद करेंगे कि पाकिस्तान अपनी धरती से संचालित होने वाले आतंकवादियों और आतंकवादी समूहों पर रोक लगाए. कांग्रेस अन्तर्राष्ट्रीय संधियों और सम्मेलनों के अनुरूप नागरिक शरण कानून पारित करने का वायदा करती है.

सीमा सुरक्षा
इन तमाम चुनावी मुद्दों में से एक देश सीमा सुरक्षा पर भी कांग्रेस ने अपने मैनिफेस्टों में ध्यान दिया है. कांग्रेस ने यह वादा किया है वह सीमा सुरक्षा बलों बी.एस.एफ., आई.टी.बी.पी. और असम राइफल की ताकत बढाएंगे और उन सीमापार से हो रही आतंकी घुसपैठ, तस्करी, अवैध घुसपैठ को रोकने के लिए सीमा के नजदीक तैनात करेंगे. हम सीमा सड़क, विशेषकर भारत-चीन सीमा पर निर्माण में तेजी लायेंगे.

हम सीमा सड़क संगठन की क्षमता बढ़ायेंगे और भारत-चीन तथा भारत-म्यामांर सीमाओं में सड़क बनाने के लिए अलग-अलग डिवीजन बनायेंगे. कांग्रेस की ओर से जारी किए इस चुनावी घोषणा पत्र के दौरान पार्टी के कई बड़े नेता पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी, पी चिदंबरम और रणदीप सुरजेवाला शामिल थे.

Congress Manifesto Lok Sabha Elections 2019: लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, राहुल गांधी बोले- जीडीपी का 6 प्रतिशत शिक्षा पर करेंगे खर्च, बड़े अस्पतालों में होगा गरीबों का इलाज

Congress Manifesto For Lok Sabha Election 2019: राहुल गांधी ने जारी किया कांग्रेस का घोषणापत्र, सुशासन, स्वतंत्र और जवाबदेह संस्थानों के लिए किए ये वादे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App