नई दिल्ली. बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने यूपी निकाय चुनाव में बीजेपी की जीत के लिए ईवीएम को जिम्मेदार ठहराया है. इसको लेकर मायावती ने बीजेपी शासित केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि बीजेपी ईमानदार है तो ईवीएम का इस्तेमाल को बंद कर बैलेट पेपर से चुनाव कराए. मायावती ने दावा करते हुए कहा कि 2019 में अगर बैलट पेपर से मतदान हुए तो बीजेपी दोबारा सत्ता में नहीं आएगी. मायावती ने कहा कि 2019 में लोकसभा के चुनाव होने हैं. अगर बीजेपी को विश्वास है कि जनता उनके साथ है तो वे बैलट पेपर से चुनाव कराए.

शुक्रवार को यूपी निकाय के नतीजे घोषित हुए है, जिसमें बीएसपी ने अलीगढ़ के साथ मेरठ के मेयर की कुर्सी पर कब्जा करने के साथ ही पार्षद की करीब 147 सीटों पर कब्जा किया है. मायावती ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) पर एक बार फिर सवाल उठाये हैं. उन्होंने निकाय चुनावों में इससे छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. मायावती ने कहा कि अगर ईवीएम से छेड़छाड़ नहीं होती तो बीएसपी मेयर की और सीटें जीत सकती थी. बसपा प्रमुख ने कहा कि मैं गांरटी देती हूं कि बैलट पेपर्स का इस्तेमाल किया गया तो भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी.

मायावती यूपी निकाय चुनावों में अपनी पार्टी बीएसपी के प्रदर्शन से खुश हैं. जीत से गदगद मायावती ने कहा कि हम दलित और मुस्लिम तबके को साथ लाना चाहते थे. तभी इस चुनाव में हमने पार्टी सिंबल के साथ लडने का फैसला किया. नतीजों पर बोलते हुए मायावती ने कहा कि दलित समुदाय के अलावा समाज के सवर्ण और पिछड़े वर्ग ने भी बीएसपी को समर्थन दिया और यह पार्टी के लिए अच्छे संकेत हैं. बता दें कि बयूपी निकाय चुनाव की 16 नगर निगम सीटों में से 14 पर बीजेपी ने कब्जा किया है, जबकि 2 (अलीगढ़ और मेरठ) पर बीएसपी ने कब्जा किया है. 

इंडिया न्यूज से Exclusive इंटरव्यू में बोले सीएम विजय रुपाणी, खत्म होने के कगार पर है कांग्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App