July 18, 2024
  • होम
  • बीजेपी सिर्फ सवर्णों की पार्टी! 11 में से 5 अध्यक्ष ब्राह्मण, अब तक 1 दलित को बनाया पार्टी प्रेसिडेंट

बीजेपी सिर्फ सवर्णों की पार्टी! 11 में से 5 अध्यक्ष ब्राह्मण, अब तक 1 दलित को बनाया पार्टी प्रेसिडेंट

  • WRITTEN BY: Pooja Thakur
  • LAST UPDATED : June 15, 2024, 1:56 pm IST

BJP President: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जून,रविवार को तीसरी बार पीएम पद की शपथ ली। इस दौरान उनके साथ 71 और नेताओं ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को इस बार कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। बतौर बीजेपी अध्यक्ष इस महीने उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है। ऐसे में इस बात की चर्चा तेज है कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी का अध्यक्ष कौन बनेगा?

अटल बिहारी पहले अध्यक्ष

भाजपा पहले भारतीय जनसंघ के नाम से जाना जाता था। वर्ष 1951 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इसकी स्थापना की थी जो 1980 में भारतीय जनता पार्टी बनी। बीजेपी ने अपना पहला चुनाव 1984 में लड़ा और दो सीटों पर जीत दर्ज की। अटल बिहार वाजपेयी पहले अध्यक्ष बने। वो 1980-1986 तक इस पद पर बने रहे। अटल जी के बाद लाल कृष्ण आडवाणी 1986 से 1991 तक पार्टी के अध्यक्ष रहें। बीजेपी में एक व्यक्ति सिर्फ दो बार अध्यक्ष बन सकता है, वो भी 3-3 साल के लिए। हालांकि लाल कृष्ण आडवाणी तीन बार पार्टी के प्रेसिडेंट रह चुके हैं।

11 में से 10 अध्यक्ष सवर्ण

बीजेपी में 1980 से अब तक 11 अध्यक्ष रह चुके हैं, जिसमें से 5 ब्रह्मण है। अटल बिहारी वाजपेयी, मुरली मनोहर जोशी, जन कृष्णमूर्ति, नितिन गडकरी और जेपी नड्डा भाजपा के ब्राह्मण अध्यक्ष हैं। इसके बाद अन्य 5 भी अगड़ी जाति से आते हैं। भाजपा में अब तक सिर्फ एक दलित को अध्यक्ष बनाया गया है, जिनका नाम बंगारू लक्ष्मण हैं। वर्तमान में बीजेपी के अध्यक्ष पद की रेस में सुनील बंसल, विनोद तावड़े, अनुराग ठाकुर और आदिवासी नेता फग्गन सिंह कुलस्ते का नाम सामने आ रहा है।

 

इटली में छाए PM Modi… मेलोनी संग मोदी की नई #मेलोडी सेल्फी वायरल

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन