नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के सात चरणों के मतदान में 19 मई को आखिरी चरण की वोटिंग के बाद 23 मई को मतगणना की तैयारियों के बीच बिहार, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के कुछ इलाकों में जीप और ट्रक पर ईवीएम मिलने से सनसनी फैल गई है जिसे आधार बनाकर विपक्षी दलों ने चुनाव अधिकारियों पर बीजेपी के पक्ष में ईवीएम की हेराफेरी और अदला-बदली की कोशिश करने का आरोप लगाया है. 21 विपक्षी दलों के नेता चुनाव आयोग से मंगलवार को मुलाकात की और ईवीएम को लेकर अपने संदेह को दोहराया और प्रत्येक विधानसभा सीट में 5 से ज्यादा ईवीएम के मतों का वीवीपैट की पर्ची से मिलान करने की मांग पर जोर दिया. चुनाव आयोग ने एक बार फिर इससे मना कर दिया है और साफ कर दिया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक प्रत्येक विधानसभा में 5 बूथ के ईवीएम और वीवीपैट का मिलान होगा.

बिहार के जमुई और छपरा में ईवीएम से लदी जीप और ट्रक मिलने पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा है और पार्टी कार्यकर्ताओं से मतगणना केंद्र पर बने स्ट्रांग रूम की कड़ी निगरानी करने की अपील की है. छपरा में सारण और महाराजगंज लोकसभा सीट के ईवीएम हैं जहां ईवीएम से लदी एक जीप को आरजेडी कार्यकर्ताओं ने पकड़ा. जीप के साथ बीडीओ भी थे लेकिन वो संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए. जमुई में ईवीएम से लदे एक ट्रक को आरजेडी कार्यकर्ताओं ने पकड़ा और आरोप लगाया कि ये ईवीएम मुंगेर लोकसभा क्षेत्र के हैं तो यहां क्यों लाए गए. टीवी चैनलों के मुताबिक ट्रक ड्राइवर ने कहा कि उसे कहा गया था ट्रक जमुई लाने. बिहार के ही पाटलिपुत्र सीट के मनेर में आरजेडी ने एक बीजेपी नेता के ईंट भट्ठे पर ईवीएम और पोलिंग पार्टी को पकड़कर उसका वीडियो वायरल किया है.

उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज में भी एक सरकारी अधिकारी की जीप में काफी ईवीएम मिलने की शिकायत हुई जिन्हें एसपी-बीएसपी कार्यकर्ताओं ने रोका. चंदौली से भी ईवीएम को लेकर संदिग्ध वीडियो वायरल हुआ है जिसमें एक हॉल में जीप से ईवीएम उतारा जा रहा है लेकिन कोई सुरक्षा गार्ड नहीं नजर आ रहा है. उत्तर प्रदेश के गाजीपुर और झांसी में भी ईवीएम की सुरक्षा को लेकर स्ट्रांग रूम के बाहर हंगामा हुआ है. हरियाणा के फतेहाबाद का एक वीडियो कांग्रेस ने वायरल करके आरोप लगाया है कि हरियाणा सरकार की एक ट्रक में भरकर स्ट्रांग रूम में ईवीएम लाए गए.

चुनाव आयोग ने डुमरियागंज, झांसी, गाजीपुर, चंदौली, छपरा में ईवीएम को लेकर विपक्ष के आरोपों पर बयान जारी करके एक-एक मामले पर सफाई दी है और बताया है कि कहीं वो रिजर्व ईवीएम था तो कहीं उसे काउंटिंग ट्रेनिंग देने के लिए ले जाया जा रहा था. चुनाव आयोग ने एक बयान जारी करके देश को भरोसा दिलाया है कि लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल हुआ एक-एक ईवीएम स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा हुआ है जिस पर प्रत्याशियों के प्रतिनिधि भी नजर रख रहे हैं. नीचे आप ट्वीट्स के जरिए चुनाव आयोग की सफाई और ईवीएम मिलने के वीडियो और फोटो देख सकते हैं. साथ ही तेजस्वी यादव, ममता बनर्जी, प्रियंका गांधी के ट्वीट्स भी जो एग्जिट पोल और ईवीएम की हेराफेरी के आरोप को लेकर आए हैं.

Upendra Kushwaha on Evm Tampering: ईवीएम विवाद पर विपक्ष हमलावर, RLSP चीफ उपेंद्र कुशवाहा बोले- लोकसभा चुनाव 2019 के रिजल्ट में गड़बड़ी हुई तो सड़कों पर खून बहेगा

गुरु मंत्र: जानिए कुंडली के अनुसार साल 2019 में नरेन्द्र मोदी और राहुल गांधी में किसकी बनेगी सरकार !

EVM Hacking controversy: EVM के खिलाफ लामबंद हुआ विपक्ष, 21 दलों के नेता आज करेंगे चुनाव आयोग से मुलाकात

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर