लखनऊ, सपा विधायक आजम खान की जमानत याचिका पर हाई कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है, हाईकोर्ट में आज़म खान की जमानत पर करीब ढाई घंटे बहस चली. सुनवाई के बाद जजों ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. फिलहाल, उनकी जमानत पर कोई फैसला नहीं सुनाया गया है. अगर इस मामले में आजम खान को जमानत मिल जाती है तो उन्हें दो साल बाद जेल से रिहाई मिलेगी.

71 मामलों में मिल चुकी है आज़म को जमानत 

बता दें कि अब तक आजम खान को 71 मामलों में पहले ही जमानत दी जा चुकी है, ऐसे में इस आखिरी मामले में जमानत मिलने पर उन्हें जेल से रिहाई मिल जाएगी, लेकिन ढाई घंटे की सुनवाई के बाद भी सपा विधायक को आज जमानत नहीं मिल पाई, अभी उन्हें अपनी जमानत के लिए और इंतजार करना पड़ेगा.

गौरतलब है कि मोहम्मद आजम खान के खिलाफ अब तक कुल 87 आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें से 86 मामलों में आजम खान को जमानत मिल चुकी है. आज़म खान के खिलाफ आखिरी मामला शत्रु संपत्ति से जुड़ा हुआ है. इस मामले की सुनवाई इलाहाबाद हाई कोर्ट में चल रही थी, ढाई घंटे तक सुनवाई चली जिसके बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया. इससे पहले 4 दिसंबर 2021 को हाई कोर्ट ने इस मामले में बहस पूरी होने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था, लेकिन करीब 4 महीने तक इस मामले में कोई फैसला ना आने के बाद यूपी की योगी सरकार ने हाईकोर्ट में अर्जेंसी एप्लीकेशन और सप्लीमेंट्री दाखिल की.

योगी सरकार ने कोर्ट से मांग की कि इस मामले में कुछ नए तथ्य सामने आए हैं जिन्हें वह कोर्ट के सामने पेश करना चाहती है. कोर्ट ने राज्य सरकार की अर्जी स्वीकार करने के बाद दोबारा इस मामले में सुनवाई शुरू की. और अब 4 मई और 5 मई (दो दिन) तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

करनाल आतंकी: चारों आतंकियों का हुआ खुलासा, आतंकी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल से जुड़े हैं तार

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर