नई दिल्ली. रामानंद सागर के मशहूर सीरियल रामायण में भगवान राम का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल ने कहा है कि धर्म को मानने वाले लोगों की वजह से लड़ाई नहीं होती बल्कि जो लोग धर्म की राजनीति करते हैं वो समाज में नफरत फैलाते हैं. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में एक्टर अरुण गोविल ने ये बातें कहीं. बता दें कि 1987 में दूरदर्शन पर आने वाले सीरियल में राम का किरदार निभाकर गोविल घर-घर जाना पहचाना नाम हो गए थे.

अरुण गोविल रामायण के अलावा विक्रम और बैताल में विक्रम का किरदार निभा चुके हैं. कई फिल्मों में भी नजर आए लेकिन राम का किरदार निभाकर बतौर अभिनेता अरुण गोविल अमर हो गए. रामायण को कई और लोगों ने भी टीवी पर उतारा लेकिन जो जादू रामानंद सागर के निर्देशन में बनी रामायण ने जनमानस पर किया था वैसी छाप कोई और सीरियल नहीं छोड़ पाया.

अरुण गोविल अब तीन दशक बाद दोबारा राम के किरदार में नजर आने वाले हैं. फर्क ये है कि वो अब टीवी या सिनेमा के पर्दे पर नहीं बल्कि रंगमंच पर यह किरदार निभाने वाले हैं. दिल्ली के रहने वाले डायरेक्टर अतुल सत्या कौशिक के निर्देशन में दशहरा के मौके पर अरुण गोविल के इस नाटक का मंचन होगा.

देखें रामानंद सागर के सीरियल रामायण में राम का किरदार निभाने वाले अरूण गोविल का इंडियन एक्सप्रेस को दिया इंटरव्यू 

जब अरुण गोविल से यह पूछा गया कि रामानंद सागर के राम और रंगमंच के राम में कितना फर्क होगा, तो उन्होंने कहा, रामानंद सागर के राम, दिव्य हैं, जबकि ये राम एक आम इंसान है जो अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करता. यह एक आम इंसान की कहानी है जिसे जिंदगी में कई संघर्षों का सामना करना पड़ता है लेकिन वह अपने आदर्शों से डिगता नहीं है और मुश्किल चुनौतियों पर विजय प्राप्त करता है. इस प्ले के जरिए हम यह कहना चाहते हैं कि एक आम आदमी में भी अदभुत क्षमता होती है और अगर वह अपने गुणों का विकास करे तो वह भगवान की तरह हो सकता है.

जब टीवी पर रामायण आता तो थम जाता था देश
रामानंद सागर के निर्देशन में बना सीरियल रामायण 1987 से 1988 के बीच दूरदर्शन पर हर रविवार को सुबह 10 बजे आया करता था. इस दौरान टीवी भी चुनिंदा घरों में हुआ करता था. उन घरों में हर रविवार मेले जैसा माहौल होता. आस पास की सभी महिलाएं, बच्चें, बुजुर्ग रामायण देखने जुटते थे. इस दौरान माहौल ऐसा हो जाता मानो सीरियल नहीं बल्कि असल में राम कथा चल रही हो. कई लोग तो टीवी की आरती उतारते. महिलाएं हाथ जोड़ें राम की जय जयकार करते सीरियल देखती थीं. अब हजार चैनलों की भीड़ में कोई एक सीरियल पूरे देश को वैसे बांध पाएगा इसकी उम्मीद कम ही दिखती है. 

Read Also:  नवरात्रि के जश्न में बंगाली एक्ट्रेस और टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती का दिखा खूबसूरत अंदाज

 नितेश तिवारी की फिल्म रामायण में ऋतिक रोशन बनेंगे राम, सीता के रोल में नजर आएंगी दीपिका पादुकोण !

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App