Tuesday, October 4, 2022

अखिलेश यादव का योगी पर हमला, कहा- ‘किसान विरोधी भाजपा’, गन्ना का भुगतान कब?

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की मानसिकता किसान विरोधी है। किसानों की कीमत पर पूंजी-घरानों का पोषण किया जा रहा है। गन्ना किसानों का सहकारी चीनी मिलों का अरबों रुपये बकाया है। खीरी की चीनी मिल पर गन्ना किसानों का 13 अरब रुपये बकाया है। भाजपा सरकार लगातार बकाए को लेकर झूठ बोल रही है।

अखिलेश ने कही ये बात

शनिवार को जारी बयान में सपा अध्यक्ष ने कहा कि 14 दिन में गन्ने का भुगतान करने का वादा करने वाली भाजपा सरकार यह क्यों नहीं बताती कि किसानों को अब तक भुगतान क्यों नहीं किया गया। खीरी जिले में दो सहकारी और सात निजी क्षेत्र की चीनी मिलें हैं। रोहिलखंड के बरेली, बदायूं, पीलीभीत और शाहजहांपुर जिले की चीनी मिलों पर लाखों रुपये बकाया हैं। किसान गरीबी से जूझ रहे हैं। 

बरेली के नवाबगंज के गांव कुंवरपुर में तुलसी पट्टी में रहने वाले 70 वर्षीय किसान फकीर चंद के पास खेती की थोड़ी जमीन है जिस पर उन्होंने वर्ष 2008 में पंपसेट लगाने के लिए 40 हजार रुपये का कर्ज लिया था। इस कर्ज पर चार गुना ब्याज 1.80 लाख रुपये की मांग पर बुजुर्ग के होश उड़ गए और मिनटों में उनके प्राण निकल गए।

भाजपा की पूंजीवादी नीति है बड़ा कारण

भाजपा की पूंजीवादी समर्थक नीति के कारण इस वर्ष क्रय केंद्रों पर गेहूं की फसल नहीं बिकी। पांच बड़ी कंपनियों ने किसानों से औने-पौने दाम पर गेहूं खरीदा है। अब कंपनियां मुनाफा कमाने के लिए महंगे दामों पर आटा बाजार में बेचेंगी। इसका असर आम आदमी पर पड़ेगा।

इससे पहले अखिलेश ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि उत्तर प्रदेश क्राइम हब बन गया है। कानून-व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। लूट और हिंसा की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। पुलिस प्रशासन के साये में आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। प्रदेश की जनता खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है, वहीं अपराधियों का हौसला बुलंद है। अखिलेश ने अपने बयान में कहा कि अपहरण, अपहरण और रंगदारी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

ये भी पढ़े-

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news