July 21, 2024
  • होम
  • महाराष्ट्र : आदित्य ठाकरे का सीएम हिमंत विस्वा सरमा पर वार, बोले-बाढ़ के बीच विधायकों पर हो रहा खर्चा

महाराष्ट्र : आदित्य ठाकरे का सीएम हिमंत विस्वा सरमा पर वार, बोले-बाढ़ के बीच विधायकों पर हो रहा खर्चा

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : June 26, 2022, 3:18 pm IST

मुंबई, महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उठापटक के बीच शिवसेना मंत्री आदित्य ठाकरे ने अब असम सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. बता दें, शिवसेना के सभी बागी विधायक इस समय भाजपा शासित असम के गुवाहाटी में ठहरी हुई है. जहां दूसरी ओर असम राज्य इस समय सदी की सबसे भयानक बाढ़ का भी सामना कर रहा है.

क्या बोले आदित्य ठाकरे?

महाराष्ट्र में सियासत संकट के बीच पिछले दिनों असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने भी बयान दिया था. जिसमें उन्होंने बागी विधायकों को मेहमान बताया था. अब उनके इस बयान पर पलटवार करते हुए खतरे में पड़ी शिवसेना के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा, “दुख है कि जिस असम में बाढ़ आई है, जहां लोगों के लिए रहने के लिए जगह नहीं है वहां विधायकों पर पैसा खर्च किया जा रहा है। यह बात लोगों को सोचनी चाहिए। इस देश में लोकशाही है या नहीं यह भी सोचना जरूरी है क्योंकि यह (BJP) इसको विकल्प की तरह ले रहे हैं.”

भाजपा कर रही समर्थन?

गुवाहाटी में अपना डेरा जमाए सभी बागी विधायकों पर जब सीएम सरमा से सवाल पुछा गया तो उन्होंने इसका जवाब कुछ इस प्रकार दिया, “इसमें हमारा फायदा हो रहा है। महाराष्ट्र में भाजपा उनका (शिवसेना के बागी विधायक) समर्थन करे या नहीं करे इसका मुझसे क्या लेना-देना। मैं तो बस इतना ही कहना चाहता हूं कि अगर असम में कोई मेहमान आया है तो उसे सुरक्षा और सहुलियत मिलनी चाहिए। आपको बता दें, इस समय भाजपा शासित राज्य में बागी विधायकों का डेरा जमाना इस बात की ओर संकेत करता है कि कहीं न कहीं शिंदे गुट को भाजपा का समर्थन है। इसी कड़ी में अब सीएम हिमंत का ये बयान सामने आया है।

बाढ़ के बीच राजनीति पर क्या बोले सीएम?

असम इस समय बाढ़ का सामना भी कर रहा है. जहां अब तक इस बाढ़ में हजारों घर उजड़ चुके हैं और सैंकड़ों जानें भी चली गई हैं. इस समय में गुवाहाटी में शिवसेना के बागी विधायकों की मौजूदगी पर सीएम ने कहा, “गुवाहाटी में 200 होटल हैं और सभी में मेहमान हैं। अब असम में बाढ़ है तो क्या ये बोलकर मैं लोगों को होटल से भेज दूं? असम के लोग उनका बिल नहीं दे रहे हैं बल्कि उनसे पैसा ले रहे हैं…”

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन