नई दिल्ली, सोमवार को दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग में अतिक्रमण को हटाने के लिए एमसीडी का बुलडोजर पहुंच गया है. वहीं बलुडोजर को देख स्थानीय निवासी सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करने लगे, फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है. इसी दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान मौके पर पहुंचे. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि “यहां कोई अतिक्रमण नहीं है, एमसीडी को पहले ये बताना चाहिए कि अतिक्रमण कहाँ है. मस्जिद के सामने एक शौचालय था, जिसे मैंने खुद हटवाया था, और कहाँ अतिक्रमण है एमसीडी बताए मैं खुद हटवाऊंगा, लेकिन इस तरह से बुलडोज़र कार्रवाई करना बहुत गलत है. भाजपा सिर्फ हिंदू-मुसलमान करना चाहती है.

एक समुदाय विशेष को घेरा जा रहा है ?

आम आदमी पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान ने आगे कहा कि भाजपा सिर्फ राजनीति करना जानती है, इन्हें लोगों की पीड़ा से कोई लेना-देना नहीं है. बता दें आप विधायक के साथ ही कांग्रेस पार्टी के कई नेता भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने बुलडोज़र कार्रवाई का विरोध किया.

सुप्रीम कोर्ट की राजनीतिक दलों को फटकार

दक्षिण एमसीडी में अतिक्रमण हटाने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है. मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि CPIM पार्टी इस मामले में याचिका क्यों दायर कर रही है. कोर्ट ने कहा कि अगर कोई पीड़ित पक्ष अपनी गुहार लेकर उनके पास आता तो समझ भी आता लेकिन राजनीतिक दलों को इसमें क्या दिलचस्पी है. क्या कोई पीड़ित नहीं है?

इसपर सीनियर वकील पी सुरेंद्रनाथ ने कहा कि रेहड़ीवालों ने भी याचिका दायर की है. आगे जस्टिस राव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट जाने से पहले उन्हें हाईकोर्ट जाना चाहिए था. वहीं यह भी कहा गया कि अगर रेहड़ी वाले भी अतिक्रमण करेंगे तो उनपर भी बुलडोज़र कार्रवाई की जाएगी.

 

बिहार में बीपीएससी पेपर लीक, भोजपुर के परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थियों ने किया जमकर हंगामा, जांच कमेटी गठित

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर