नई दिल्ली. एचआरडी मिनिस्टर स्मृति ईरानी भी ‘असहिष्णुता’ पर जारी बहस में उतर गई हैं. स्मृति ने एक निजी न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सहिष्णु होने का सबसे बड़ा उदाहरण मैं खुद हूं. मैंने एक ज़माने में उन पर सार्वजानिक रूप से हमले किये थे उसके बावजूद उन्होंने मुझे माफ़ करते हुए अपने कैबिनेट में मंत्री बनाया. 
 
स्मृति ईरानी ने कहा कि आमिर खान ने एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान एक केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की मौजूदगी में यह टिप्पणी की, जिससे सिद्ध होता है कि भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार है.  स्मृति ने कहा, ‘आमिर खान हमारे देश में पर्यटन – इन्क्रेडिबल इंडिया (अविश्वसनीय भारत) – के ब्रांड एम्बेसडर हैं… और यही है इन्क्रेडिबल… कि वह हमारी सरकार के ब्रांड एम्बैसेडर होते हुए भी, एक मंच पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री (अरुण जेटली) के सामने अपने मन की बात कह पाते हैं, जो दिखाता है कि इस मुल्क में बोलने की आज़ादी है…’
 
 
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App