मुंबई. महाराष्ट्र में आम आदमी पार्टी के भीतर फिर नया बवाल खड़ा हो गया है. आप नेता मयंक गांधी ने राजनीति में ‘कम होती दिलचस्पी’ का हवाला देते हुए पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से इस्तीफ़ा दे दिया है.
 
अपने ब्लॉग पर पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के नाम लिखी चिट्ठी में मयंक ने लिखा कि उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बने रहना उचित नहीं लग रहा है और वो चाहते हैं कि उनके इस्तीफ़े को स्वीकार किया जाए. उन्होंने लिखा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि पार्टी राज्य में एक योग्य प्रतिनिधि को ये जिम्मेदारी देगी.
 
मयंक और केजरीवाल में जारी है टकराव
दरअसल, मयंक और केजरीवाल के बीच काफी समय से टकराव जारी है, जिसके चलते पार्टी की राज्य ईकाई को भी भंग कर दिया गया है. मयंक के इस्तीफ़े को इस कार्रवाई की नाराज़गी से भी जोड़ा जा रहा है. बीते माह ही आम आदमी पार्टी ने अपनी महाराष्ट्र इकाई को भंग  कर दिया था. इसके बाद इसकी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मयंक गांधी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि पार्टी संयोजक तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ‘गटर की राजनीति’ करते हुए संगठन को तबाह करने पर उतारू हैं.
 
वहीं, मयंक गांधी ने इससे पूर्व एक ब्लॉक लिखकर भी सीधे अरविंद केजरीवाल पर उंगली उठाई थी. मयंक गांधी ने लिखा था कि सारे फसादा की जड़ अरविंद केजरीवाल ही हैं. मयंक ने योगेंद्र और प्रशांत के हवाले से भी स्‍पष्‍ट लिखा था कि केजरीवाल उन्हें पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) में रखना नहीं चाहते.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App