रामपुर. पिछले दिनों सपा (समाजवादी पार्टी) नेता आजम खान के चुनावी क्षेत्र में वाल्मीकियों का धर्म परिवर्तन कर उन्हें इस्लाम कबूल कराने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इसे लेकर वाल्मीकि बस्ती बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले अनशन पर बैठे वाल्मीकि समाज के चार लोगों की हालत बिगड़ गई है और वाल्मीकि समाज के लोगों ने अब सामूहिक रूप से इच्छा मृत्यु मांगी है. इसके लिए उन्होंने बकायदा राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया है. 

मामले को लेकर विश्व हिन्दू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने कहा कि कैबिनेट मंत्री आजम खां रामपुर को पाकिस्तान बनाना चाहते हैं. यदि एक भी धर्म परिवर्तन हुआ तो रामपुर में ही आकर ईंट से ईंट बजा देंगे. बता दें कि रामपुर जिले में तोपखाना रोड पर बन रहे गांधी मॉल के नजदीक रहने वाले वाल्मीकि समुदाय के 80 परिवारों का कहना है कि उन पर इस्लाम धर्म अपनाने का दबाव बनाया जा रहा है. इन परिवारों का कहना है कि कुछ दिनों पहले नगर पालिका से सिब्ते नबी नाम का एक अफसर वाल्मीकि बस्ती में आया था और उसने 55 घरों पर निशान लगा दिया. नगर पालिका के अफसर का कहना था कि निशान वाले घर अतिक्रमण के दायरे में आते हैं और सड़क को चौड़ा करने के लिए उन्हें तोड़ दिया जाएगा. बस्ती वालों के मुताबिक सिब्ते नबी ने उनसे कहा था कि अगर वे इस्लाम धर्म स्वीकार कर लें तो उनके घर बच सकते हैं.

IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App