मुंबई. शिवसेना ने मंगलवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से इस बात पर विचार करने का आग्रह किया है कि विधानसभा चुनाव के बाद एक साल में ही लोगों का मन क्यों बदल गया. शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में लिखा है कि राज्य के कई हिस्सों में कांग्रेस-राकांपा ने नगर निकाय चुनाव में काफी अच्छा प्रदर्शन किया.
 
जनता का मन केवल एक साल में इतना क्यों बदल गया? मुख्यमंत्री को इस पर विचार करना चाहिए. कल्याण-डोम्बिवली नगर निगम (केडीएमसी) चुनाव के नतीजों की ओर इशारा करते हुए शिवसेना ने कहा कि यह चुनौती थी, लेकिन लोगों ने उसे सत्ता की दहलीज पर ला खड़ा किया है.
 
 
संपादकीय में कहा गया है कि अन्य सभी दल सूखे पत्तों की तरह उड़ गए. कांग्रेस को केवल चार और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को दो सीटें मिली हैं, जबकि वे स्वतंत्र रूप से सत्ता में आने के बड़े-बड़े दावे कर रहे थे.
 
बता दें कि निकाय चुनाव में शिवसेना को 122 सीटों में से 52 सीटें मिली हैं वहीं बीजेपी के खाते में 42 सीटें गईं हैं. इसके अलावा कांग्रेस-एनसीपी को 6, जबकि एमएनएस के खाते में 9 सीटें गईं हैं. इसके अलावा अन्य के खाते में 11 सीटें गई हैं जिसमें AIMIM को 1 सीट मिली है. 122 सीटों में से 2 स्थानों पर चुनावों का बहिष्कार किया था.  
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App