पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में मुसलमानों के मताधिकार खत्म करने संबंधी लेख पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि शिवसेना की यह बात संविधान के खिलाफ है. नीतीश ने कहा, ‘देश संविधान से चलता है. देश को किसी की बातों से नहीं चलाया जा सकता. शिवसेना ने जो बातें कहीं हैं, वे निहायत गलत हैं. शिवसेना की सोच निंदनीय और लोकतंत्र के लिए खतरनाक है. यह पार्टी सियासी फायदे के लिए समाज में नफरत फैलाने वाली बातें जानबूझकर करती रहती है.’ 

वहीं, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा, ‘शिवसेना की रोजी-रोटी व पूंजी यही है. वे सांप्रदायिक बोल बोलने वाले खानदानी लोग हैं. कोई किसी का मताधिकार नहीं छीन सकता. यह फालतू बात है.’ बता दें कि ‘सामना’ के नवीनतम अंक में शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने अपने लेख में बाल ठाकरे के बयान का जिक्र करते हुए कहा है कि देश में मुसलमानों के मतदान का अधिकार छीनने से ही मुस्लिम वोट बैंक के नाम पर हो रही सियासत खत्म होगी. राउत ने मुलायम सिंह यादव, लालू प्रसाद और मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन के ओवैसी भाइयों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि सबने मुसलमानों का इस्तेमाल सिर्फ सियासी फायदे के लिए किया है.

IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App