सुपौल. बिहार में सुपौल जिले के लोहियानगर चौक पर महान समाजवादी चिंतक राममनोहर लोहिया की प्रतिमा पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के माल्यार्पण करने व बाद में राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं की ओर से प्रतिमा धोए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. इस मामले में सुपौल के सदर थाना में मामला दर्ज कराया गया है.

लोहिया किसी के छूने से अछूत नहीं हो सकते. जो लोग प्रतिमा को धो रहे हैं, वो समाजवादी हो ही नहीं सकते: मांझी

पुलिस के अनुसार, रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री मांझी ने सहरसा जाते समय सुपौल में रुक कर लोहियानगर चौक स्थित लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. मांझी के सहरसा रवाना होने के कुछ देर बाद वहां कुछ छात्र राष्ट्रीय जनता दल के जिलाध्यक्ष अनोज कुमार आर्य, लोहिया विचार मंच के प्रमंडलीय अध्यक्ष दुखीलाल यादव और मुकेश के साथ पहुंचे. इन लोगों ने लोहिया की प्रतिमा धोई और फिर माल्यार्पण किया.

पूर्व CM मांझी बोले, मैं चलाऊंगा JDU

सदर थाने में इस घटना को लेकर एक मामला दर्ज कराया गया है. सदर थाना प्रभारी राजकिशोर बैटा ने सोमवार को बताया, “दंडाधिकारी कालीचरण के बयान पर सदर थाने में इस मामले को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. इसमें राज्य में शांति व्यवस्था बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए चार लोगों को नामजद किया गया है.” उन्होंने कहा कि फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

इस पूरे मामले में मांझी ने कहा कि लोहिया किसी के छूने से अछूत नहीं हो सकते. जो लोग प्रतिमा को धो रहे हैं, वो समाजवादी हो ही नहीं सकते.