भोपाल. विश्व हिंदी सम्मलेन का उद्घाटन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भोपाल पहुंच चुके हैं. भोपाल एयरपोर्ट पर अपने भाषण में मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. मोदी ने कहा कि कांग्रेस के प्रधानमंत्री राजीव गांधी बीजेपी का मज़ाक उड़ाते थे लेकिन आज 400 सीट वाली पार्टी खुद 40 पर सिमट गयी है. मोदी ने कहा कि कांग्रेस जानबूझकर देश के विकास में अड़ंगा लगा रही है, संसद नहीं चलने दे रही.
 
मोदी ने कहा कि कांग्रेस अपनी हार को पचा नहीं पा रही है. वहीं 1984 में बीजेपी के सिर्फ दो सांसद थे. उस समय बीजेपी का मजाक उड़ा. हमने अपनी हार से सीख ली और आज हमारी पार्टी पू्र्ण बहुमत के साथ सरकार में है. जीएसटी पर मॉनसूत्र सत्र की अवधि को बढ़ाने का विचार छोड़ने के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के अलावा अन्य सभी दल संसद की कार्यवाही चलाने के पक्ष में थे.
 
पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उसके द्वारा सदन न चलने देने की वजह बताते हुए कहा कि संसद एक के बाद एक महत्वपूर्ण फैसले ले रही थी. कालेधन का काठोर कानून बनाने से ‘हवालाबाज’ परेशान थे और उनके पैरों के नीचे की जमीन खिसक रही थी, उन पर संकट मंडरा रहा था. इसी के चलते ‘हवालाबाजों’ की जमात ने लोकतंत्र में रुकावट पैदा करने की कोशिश की.
 
प्रधानमंत्री ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, लोकतंत्र में जय और पराजय होती रहती है. चुनाव में जय मिलने पर जनता की भलाई के लिए प्राणप्रण से काम करने और पराजय मिलने पर आत्ममंथन करके कमियों को दूर करने की जरूरत होती है लेकिन कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में पराजय से कोई सबक नहीं लिया है. 
 
आपको बता दें कि 32 साल बाद भारत में विश्व हिन्दी सम्मेलन का आयोजन किया गया है. दुनियाभर में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए होने वाले इस सम्मेलन का भोपाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्धाटन करेंगे. तीन दिनों तक चलने वाले इस सम्मेलन में हिन्दी के जानकारों के साथ-साथ देश-विदेश की कई बड़ी हस्तियां शामिल होंगी. विश्व हिन्दी सम्मेलन की इस बार की थीम हिन्दी जगत-विस्तार एवं संभावनाएं रखी गई हैं. इसमें 39 देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं. विश्व हिन्दी सम्मेलन के आखिरी दिन केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अमिताभ बच्चन हिस्सा लेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App