देहरादून : उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान आखिरकार शुक्रवार को बीजेपी ने कर दिया है. त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाम पर मुहर लगा दी गई है. आज रावत सीएम पद की शपथ लेंगे. बता दें कि मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में पूर्व मंत्री प्रकाश पंत और त्रिवेंद्र सिंह रावत का नाम सबसे आगे चल रहा था.
 
चुनाव के नतीजे आने के बाद सीएम के नाम का ऐलान करने में बीजेपी को 6 दिन लग गए. शुक्रवार को बीजेपी की संसदीय दल की बैठक में त्रिवेंद्र रावत को मुख्यमंत्री के तौर पर चुना गया है. रावत ने शपथ के पहले कहा है कि उनका उद्देश्य राज्य को भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देना है.
 
देहरादून के परेड ग्राउंड में शपथ ग्रहण समारोह होगा. इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे. रावत के साथ 10 विधायक भी शपथ लेंगे. सतपाल महाराज, प्रकाश पंत, मदन कौशिक मंत्री पद की शपथ लेंगे.
 
 
कौन हैं त्रिवेंद्र रावत ?
त्रिवेंद्र रावत उत्तराखंड में पूर्व कृषि मंत्री रह चुके हैं. उनका नाम बीज घोटाले में आ चुका है. रावत ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत आरएसएस प्रचारक के तौर पर की थी. उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव कई मुख्य पदों पर काम भी किया है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संघ के प्रचारक से लेकर सीएम तक के सफर में तमाम उतार-चढ़ाव देखे. वह 14 साल तक संघ से जुड़े रहे और फिर 1993 में बीजेपी संगठन मंत्री बने. उत्तराखंड अलग राज्य बनने के बाद 2002 में पहली बार डोईवाला से विधायक चुने गए.