नई दिल्ली: शशिकला नटराजन को सुप्रीम कोर्ट से फिर झटका लगा है, कोर्ट ने शशिकला को सरेंडर करने के लिए और समय देने से इंकार कर दिया है. कोर्ट ने शशिकला को तुरंत सरेंडर करने को कहा है.
 
 
दरअसल, कोर्ट ने यह फैसला शशिकला की उस याचिका पर सुनवाई करते हुए सुनाया जिसमें उन्होंने कोर्ट से सरेंडर के लिए समय मांगा था. इससे पहले शशिकला कल देर रात अपने घर पोएस गार्डन लौट आईं. 
 
 
शशिकला देर रात जनता को संबोधन किया. शशिकला ने भावुक होते हुए कहा कि वो अगर जेल भी चली जाती हैं तब भी उनके विचार पार्टी के साथ ही रहेंगे. वहीं  एआईएडीएमके ने शशिकला के भरोसमंद ई. के पलनीस्वामी को विधायक दल का नेता चुना है. पलनीस्वामी का दावा है कि मुझे सभी विधायकों का समर्थन प्राप्त है. हम जल्दी ही विधायकों के समर्थन पत्र के साथ राज्यपाल से मिलेंगे. इससे पहले पन्नीरसेल्वम को AIADMK पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया गया है.
 
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को आय से ज्यादा संपत्ति केस में शशिकला को चार साल की सजा सुनाई है. सुप्रीम कोर्ट ने बेंगलूरू निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा है. सुप्रीम कोर्ट ने शशिकला को तुरंत सरेंडर करने के कहा है. शशिकला के अलावा सुधाकरन और इल्वरासी को 4 साल की कैद और 10-10 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है. वहीं जयललिता के दिवंगत हो जाने के चलते उनका मामला खत्म कर दिया गया है.