लखनऊ : समाजवादी पार्टी में मुलामय सिंह और यूपी के सीएम अखिलेश यादव के बीच चल रहे घमासान पर अमर सिंह का कहना है कि वह समाजवादी परिवार को टूटने से बचाने के लिए हर बलिदान देने के तैयार हैं. इसके साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव पर निशाना साधा.
 
राज्यसभा सांसद अमर​ सिंह ने आज कहा, ‘मैंने इस्तीफा देने की कोशिश की और देने के लिए तैयार बैठा हूं. हर तरह का बलिदान देने को तैयार हूं ताकि परिवार टूटे नहीं.’
 
शायरी में कही बात
अमर सिंह ने आगे कहा, ‘मैं और शिवपाल मिट्टी थे. जिस कुम्‍हार ने हमारा निर्माण किया, हमारी प्रतिमा बनाई वो मुलायम सिंह हैं. हम उनके दो बाजू हैं. मैं हाथ जोड़कर विनती करना चाहता हूं और क्या लोगे? त्यागपत्र देने को तैयार हूं. शिवपाल चुनाव लड़ने से हटने को तैयार हैं.’
 
 
अमर सिंह ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या जिद है? किस बात की अकड़ है? इस घर को आग लग गई है घर के चिराग से, हम मिल कर रहना चाहते हैं.’ उन्होंने शायरना अंदाज में अपनी बात कहते हुए कहा, ‘तेरा मेरा शीशे का घर, मैं भी सोचूं तू भी सोचे, फिर क्यूं तेरे हाथ में पतथर, मैं भी सोचूं तू भी सोचे.’
 
लगाया तंत्र-मंत्र का आरोप
उन्होंने परोक्ष रूप से अखिलेश पर तंत्र-मंत्र करने का आरोप भी लगाया. अमर सिंह ने कहा, ‘विकास का दावा करने वाले लोग विज्ञान के इस युग में अपने समर्थकों के माध्यम से तंत्र और तांत्रिक से बात कर रहे हैं.’ 
 
 
बता दें कि समाजवादी पार्टी में ​बीते कुछ महीनों से झगड़ा चल रहा है. चाचा-भतीजे की लड़ाई अब पिता-पुत्र की लड़ाई में तब्दील हो गई है. अमर​ सिंह मुलायम सिंह यादव के करीबी हैं लेकिन अखिलेश यादव उन्हें पसंद नहीं करते. फिलहाल दोनों पक्ष पार्टी के चुनाव चिह्न साइकिल को पाने की कोशिश में लगे हैं. 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर