लखनऊ : उत्तर प्रदेश में सबसे बड़े राजनीतिक कुनबे समाजवादी पार्टी में मची घमासन के बीच आखिरकार शिवपाल यादव का दर्द उनकी जुबां पर आ ही गया, भले ही उन्होंने इसके लिए एक गाने का सहारा लिया हो, लेकिन उन्होंने कह ही दिया कि ये झूठे नाते हैं, नातों का क्या.
 
नए साल के जश्न में शामिल हुए शिवपाल यादव ने उपकार फिल्म का गाना गाकर कहा, ‘प्यार वफा सब बातें हैं, बातों का क्या…..कोई किसी का नहीं…ये झूठे नाते हैं नातों का क्या…कोई किसी का नहीं.’ 
 
 
समाजवादी पार्टी में चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश के बीच का विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है. शिवपाल की ओर से गाया गया यह गाना साफ-साफ उनके दिल का हाल बयां कर रहा है. 
 
 
बता दें कि रविवार को हुए सपा के अधिवेशन में रामगोपाल ने अखिलेश यादव को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा की थी, साथ ही घोषणा में शिवपाल को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष से हटाने का भी ऐलान हुआ था. यही नहीं अधिवेशन के बाद अखिलेश के समर्थकों ने पार्टी कार्यालय में घुसकर शिवपाल यादव की नेम प्लेट उखाड़ कर फेंक दी थी.
 
 
बता दें कि अखिलेश के पार्टी अध्यक्ष बनने की घोषणा के बाद से ही समाजवादी पार्टी के चुनाव चिन्ह साइकिल पर भी जंग छिड़ गई है. अखिलेश और मुलायम के गूटों के बीच चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ पर दावा जताया जा रहा है. आज इसी मुद्दे को लेकर मुलायम सिंह यादव चुनाव आयोग पहुंचेंगे. चुनाव आयोग ने मुलायम सिंह यादव को शाम 4:30 बजे का समय दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App