लखनऊ : समाजवादी पार्टी में चल रहे दंगल के बीच आज यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट करके अपना पक्ष रखा है. उनहोंने लिखा है कि कभी-कभी अपनों को बचाने के लिए कड़ा फैसला लेना पड़ता है. 
 
अखिलेश के बेहद भावनात्मक अंदजा में ट्वीट लिखा है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है, ‘कभी-कभी अपने प्रियजन को बचाने के लिए आपको सही फैसला करना पड़ता है. मैंने जो आज किया वह मुश्किल फैसला था लेकिन इसे लेना जरूरी था.’
 
बता दें कि सपा में कई महीनों से जारी कलह ने अब मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव को आमने-सामने ला दिया है. मुलायम और अखिलेश के उम्मीदवारों की दो अलग-अलग सूची जारी होने के बाद शुक्रवार को मुलायम सिंह ने अखिलेश और भाई रामगोपाल यादव को छह साल के लिए पार्टी से निकाल दिया था. 
 
मुलायम पहुंचे चुनाव आयोग
इसके बाद शनिवार शाम को अखिलेश का निलंबन रद्द कर दिया है. लेकिन, रविवार सुबह रामगोपाल ने पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया, जिसमें अखिलेश को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुलायम को मार्गदर्शक घोषित कर दिया गया. 
 
इसके बाद मुलायम सिंह चुनाव आयोग पहुंच गए हैं. उन्होंने पार्टी के चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ पर दावा किया है और राष्ट्रीय अधिवेशन को तकनीकी रूप से गलत ठहराया है. अब फैसला चुनाव आयोग को लेना है. हो सकता है कि पार्टी का चुनाव चिन्ह जब्त हो जाए और दोनों पक्षों को एक अस्थायी चिन्ह जारी किया जाए.
 
इस बीच अखिलेश का यह ट्वीट आना पिता के खिलाफ अपने फैसले पर उनकी सफाई भी माना जा सकता है. वहीं, थोड़ी देर पहले मु​लायम सिंह यादव की तबीयत खराब होने की भी खबर आई थी. उन्हें हाई ब्लड प्रेशर की दिक्कत हो गई थी. शिवपाल यादव उनसे मिलने पहुंचे थे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App