पटना: RJD और JDU ने नोटबंदी से पहले बीजेपी की तरफ से किये गए जमीनों के सौदे पर जॉइंट पार्लियामेंट्री कमेटी से जांच की मांग की हैं. इसके साथ साथ ही दोनों पार्टियों ने इसकी न्यायिक जांच की मांग भी की हैं.
 
दोनों पार्टियों का कहना है कि ऐसा प्रतीत होता है की ये मामला ब्लैक मनी से जुड़ा हुआ हैं. पार्टियों के प्रवक्ता संजय सिंह और नीरज कुमार के अनुसार जमीन की रजिस्ट्री से जुड़े दस्तावेजों को देख कर ये लगता है कि  ये सारी जमीनें भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से दिए गए निर्देशों के बाद खरीदी गई हैं. इस मामले में कांग्रेस ने भी बीजेपी पर निशाना साधा है. 
 
 
बता दें कि 8 नवंबर की शाम को पीएम मोदी ने देश भर में 500 और 1000 के नोटों पर बैन की घोषणा की थी. वेबपोर्टल कैच के अनुसार उनके पास बीजेपी द्वारा खरीदी गई इन संपत्तियों के डॉक्यूमेंट हैं.
 
कैच के अनुसार जमीन की खरीद-फरोख्त से जुड़े ये डॉक्यूमेंट बिहार सरकार की भूमि जानकारी संबंधी वेबसाइट से मिले हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार बीजेपी ने ये संपत्तियां अपने कार्यकर्ताओं के नाम पर खरीदी हैं. 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App